संवाद सूत्र, दिनेशपुर : शनिवार रात को जगदीशपुर गांव में एसओजी पर हुए हमले के मामले में पुलिस ने मुख्य आरोपित सहित तीन लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। इससे पहले चार आरोपित को जेल भेजा जा चुका है।

रुद्रपुर में 12 को जुलाई एक फाइनेंस कंपनी के सेल्समैन से हुई लूट की घटना के संबंध में एसओजी के एसआइ सुरेंद्र प्रताप सिंह ने टीम के साथ शनिवार को जगदीशपुर गांव में निरंजन मंडल के घर मे दबिश दी थी। लोगों ने एसओजी पर हमला कर दिया। हमले में एसआइ व महिला कांस्टेबल चोटिल हो गए थे। एसओजी के कांस्टेबल से ग्रामीणों ने सरकारी पिस्टल छीनने का प्रयास भी किया था। एसओजी की तहरीर पर पुलिस ने 10 नामजद लोगों के अलावा 30 अज्ञात लोगों के खिलाफ गंभीर धाराओं में केस दर्ज किया था। पुलिस ने रविवार को आरोपी निरंजन की पत्नी चंपा, मनोज अधिकारी, राकेश अधिकारी व राजेश अधिकारी को पकड़कर जेल भेजा था। मामले की जांच एसआइ जितेंद्र बिष्ट को सौंपा गया। मुख्य आरोपित निरंजन सहित फरार अन्य नामजद आरोपितों की धरपकड़ को पुलिस की टीमें गठित की गई थी। सोमवार को पुलिस ने जगदीशपुर से सटे जंगल में दबिश दी, लेकिन पुलिस को सफलता नहीं मिली। मंगलवार को पुलिस ने मुख्य आरोपित निरंजन मंडल पुत्र माणिक मंडल, महानंद सरकार पुत्र बंकिम सरकार, सुभाष मंडल पुत्र माणिक मंडल को उनके घर के पास से हिरासत में लिया। उनके पास से 315 बोर का तमंचा व एक कारतूस का खोखा बरामद किया है। सभी को बुधवार को न्यायालय में पेश किया गया। जहां कोर्ट के आदेश पर उन्हें जेल भेज दिया गया।

Edited By: Jagran