जागरण संवाददाता, काशीपुर : उत्तराखंड स्किल डवलपमेंट मिशन के निर्देशन में गठित निरीक्षण टीम मंगलवार को नगर के दो कौशल विकास केंद्रों में अचानक धमक पड़ी। एक-एक सेंटर पर टीम लगभग तीन-तीन घंटे तक रही व बारीकी से जांच की। निरीक्षण के दौरान सब कुछ ठीक ठाक मिला। अब टीम अपनी रिपोर्ट डवलपमेंट मिशन को सौंपेगी तथा वहां पर इन कौशल विकास केंद्रों के जो दस्तावेज शुरू में जमा किए गए थे। उनका मिलान किया जाएगा कि वह मानकानुसार सही हैं या नहीं। इसके बाद निर्णय लिया जाएगा।

उत्तराखंड स्किल डवलपमेंट मिशन की टीम अचानक 12 बजे प्रिया मॉल स्थित कौशल विकास केंद्र में धड़धड़ाते हुए घुस गई और वहां के क्लास रूम व सामान का निरीक्षण करने लगी। यह देख केंद्र के कर्मचारियों के पसीने छूट गए। टीम ने लगभग तीन घंटे जांच की। इसके बाद शाम लगभग चार बजे टीम धीमरखेड़ा स्थित कौशल विकास केंद्र पहुंची। यहां भी करीब तीन घंटे जांच पड़ताल चलती रही। इसके बाद टीम वापस चली गई। प्राथमिक जांच के दौरान टीम को केंद्रों में कोई गड़बड़ी नहीं मिली। टीम अपनी रिपोर्ट उत्तराखंड स्किल डवलपमेंट मिशन को सौंप देगी। वहां पर यह देखा जाएगा कि रजिस्ट्रेशन के समय इन कौशल विकास केंद्रों ने जो दस्तावेज जमा किए थे। उन मानकों व गाइड लाइनों का पालन अब किया जा रहा है या नहीं। इसके बाद कोई निर्णय लिया जाएगा। टीम में जिला सेवायोजन अधिकारी, खंड शिक्षाधिकारी आरएस नेगी, पालिटेक्निक के प्रधानाचार्य व आइटीआइ के प्रधानाचार्य शामिल थे।

Posted By: Jagran