किच्छा, [जेएनएन]: सहकारी क्रय विक्रय समिति के चुनाव में एक प्रत्याशी का नामंकन निरस्त हो गया जिसके बाद उसके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया। यही नहीं, प्रत्याशी के समर्थकों ने चुनाव अधिकारियों को भी खरी-खोटी सुना दी, जिसके चलते दोनों पक्षों में तीखी नोकझोंक हुई। मौके पर पहुंची पुलिस ने किसी तरह मामला शांत कराया।

सहकारी क्रय विक्रय समिति के चुनाव में नवीन मंडी स्थल स्थित कार्यालय में नामांकन की प्रक्रिया चल रही है। शनिवार को नामांकन के बाद रविवार को नामांकन पत्रों की जांच की कार्रवाई हुई। बताया जा रहा है कि जांच में प्रत्याशी जसोदा देवी पत्नी पूरन लाल का नामांकन निरस्त कर दिया गया। इसके बाद पूरन लाल व उनके समर्थक मौके पर पहुंच गए।

उन्होंने नामांकन पत्र में अक्षर की गड़बड़ी को लेकर शपथ पत्र देना चाहा तो चुनाव अधिकारियों ने समय सीमा का हवाला देकर शपथ पत्र लेने से इनकार कर दिया। समर्थकों ने नामांकन पत्र निरस्त करने संबंधित आपत्ति दिखाने को कहा। लेकिन, चुनाव अधिकारी बीडीओ डीसी जोशी ने आपत्ति संबंधित कागज दिखाने से इनकार कर दिया। इसके बाद पूरन लाल के समर्थन में आए पूर्व बीडीसी सदस्य तिरमल प्रसाद की चुनाव अधिकारी से तीखी नोंक झोंक होने लगी। उन्होंने चुनाव समिति पर सत्ता के दवाब में काम करने का आरोप लगाया। 

उन्होंने आरोप लगाया कि जिस कारण को बताकर नामांकन निरस्त किया गया है, उसका कोई आधार नहीं। उससे प्रत्याशी के नाम के उच्चारण पर कोई फर्क नहीं पड़ता है। हंगामा बढ़ने पर मौके पर पुलिस फोर्स पहुंच गई। पुलिस ने लोगों को समझा बुझा कर बाहर किया। जिसके चलते एक घंटे तक नामांकन स्थल पर हंगामे की स्थिति बनी रही।

यह भी पढ़ें: विधायक ठुकराल का एक और वीडियो वायरल, महिला दारोगा से अभद्रता का आरोप

यह भी पढ़ें:  विधायक ठुकराल पर महिला से मारपीट और गाली गलौज का आरोप

Posted By: Raksha Panthari