जागरण संवाददाता, रुद्रपुर: मल्सी लंका के सिख समुदाय के सगे दो भाइयों के हत्यारोपितों को कड़ी से कड़ी सजा दिलाई जाएगी। इसके लिए महंगा से महंगा वकील भी किया जाएगा। जिसका भुगतान गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी दिल्ली करेगी। यह बात दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष मनजिदर सिंह सिरसा ने कहीं। वह गुरुवार को प्रीत नगर में हुई मल्सा लंका निवासी भाई गुरकीर्तन सिंह और गुरपेज सिंह की हत्या के बाद आवास विकास स्थित गुरुद्वारे में अंतिम अरदास में पहुंचे थे। उन्होंने कहा कि सिखों के खिलाफ उत्पीड़न पर सरकार गंभीरता नहीं बरत रही है। अभी तक आरोपितों की गिरफ्तारी नहीं होना सरकार की कार्यशैली को दर्शाता है।

कमेटी के अध्यक्ष मनजिदर सिंह सिरसा ने कहा कि जो सिख दूसरों की रक्षा के लिए लड़ते थे, आज सिख अपनी रक्षा के लिए लड़ रहे हैं। यह लड़ाई एक सिख की नहीं, संपूर्ण सिख समुदाय की है। सिरसा ने कहा कि जो सरकार आरोपितों को गिरफ्तार कर जेल भेजने में इतना समय लगा रही है। इससे पता चलता है कि सरकार की आगे की नियत क्या है। कहा कि वह पीड़ित परिवार के साथ है और उनकी हरसंभव मदद की जाएगी। इस अवसर पर दिल्ली गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के पूर्व अध्यक्ष मंजीत सिंह जीके, भीम आर्मी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चंद्रशेखर आजाद, उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री बलदेव सिंह औलख, बाबा अनूप सिंह, विधायक राजकुमार ठुकराल, विधायक किच्छा राजेश शुक्ला, मेयर रामपाल सिंह, पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलकराज बेहड़ के साथ ही कमेटी के गुरमीत सिंह, तजेंद्र सिंह विर्क, सुरमुख सिंह विर्क, मंजीत सिंह, संदीप चीमा, सुखदेव सिंह नामधारी, कुलविदर सिंह किदा, जगतार सिंह बाजवा, इकबाल सिंह चीमा आदि थे।

Edited By: Jagran