जागरण संवाददाता, काशीपुर : गैस एजेंसी ने उपभोक्ता को गैस सिलेंडर के ज्वाइंट में लीकेज होने पर भी डिलीवर कर दिया था। हालांकि चूल्हा चलाने से पहले ही ज्वाइंट से गैस रिसाव का पता चल जाने से बड़ा हादसा टल गया।

मोहल्ला घास मंडी निवासी सचिन माहेश्वरी पुत्र रमेश चंद्र माहेश्वरी की मोहल्ले में ही किराना स्टोर है। सचिन को आवास विकास के सामने देव बाजार स्थित सांई गैस एजेंसी के एक डिलीवरीमैन ने कुछ दिन पहले इंडेन गैस से भरा एक सिलेंडर दे दिया था। उन्होंने सिलेंडर को एक कमरे में रख दिया। उनकी पत्नी ने सोमवार दोपहर सिलेंडर के पाइप को चूल्हे से लगाने लगी तो गैस की बदबू आने लगी। इस पर उन्होंने इसकी जानकारी अपने पति को दी। इस पर उन्होंने गैस सिलेंडर ठीक करने के लिए एक व्यक्ति को भेज कर चेक कराया तो सिलेंडर के ज्वाइंट से गैस का रिसाव पाया गया। इससे परिजनों के होश उड़ गए। चर्चा थी कि यदि माचिस जलाई गई होती तो बड़ा हादसा हो सकता था। सूचना पर एजेंसी के कर्मचारी ने मौके पर पहुंचकर जांच की और दूसरा सिलेंडर थमा दिया। इससे परिजनों ने राहत की सांस ली। एजेंसी के प्रबंधक दीपक कुमार ने बताया कि सिलेंडर में लीकेज था, दूसरा सिलेंडर दे दिया गया। धूप में या लंबे समय तक सिलेंडर रखने से लिकेज हो जाता है।

Posted By: Jagran