काशीपुर, राजेश शर्मा : प्रदूषण नियंत्रण परिषद (परिषद) के तमाम प्रयासों के बावजूद काशीपुर व इसके आसपास के क्षेत्र में वायु प्रदूषण नियंत्रित नहीं हो पा रहा है। हालत यह है कि वर्तमान में यहां वायु प्रदूषण मानक से करीब डेढ़ गुना बढ़ गया है। इससे लोग परेशान हैं। अब केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड ने काशीपुर के लिए एयर एक्शन प्लान स्वीकृत कर दिया है। इस प्लान के तहत शीघ्र नगर क्षेत्र में दो सीएएक्यूएमएस (कंटिन्यूयस एम्बीअंट एयर क्वालिटी स्टेशन) और दो एमएएक्यूएस (मैन्यूअल एम्बीअंट एयर क्वालिटी स्टेशन) स्थापित किए जाएंगे। विभाग ने इन स्टेशनों के लिए जगह भी चिह्नित कर ली है। इनके लगने के बाद संबंधित कर्मचारी 24 घंटे मार्गो से गुजरने वाले वाहनों का प्रदूषण स्तर माप सकेंगे। मापक से ज्यादा प्रदूषण पाए जाने पर वाहन चालक के विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी।

देश में प्रदूषित 102 शहरों को किया गया चिन्हित

2010 में केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड ने नेशनल एम्बीअंट मॉनीटरिंग प्रोग्राम के तहत देश में बढते प्रदूषण के स्तर पर चिंता जताते हुए उत्तराखंड के राज्य प्रदूषण बोर्ड को वायु प्रदूषण को मॉनीटरिंग करने के निर्देश दिए थे। इस दौरान किए गए सर्वे में देश के सबसे ज्यादा प्रदूषित 102 शहरों को चिन्हित किया गया था। जिसमें उत्तराखंड के तीन शहर काशीपुर, रुद्रपुर, ऋषिकेश के नाम शामिल थे। तब काशीपुर में वायु प्रदूषण का स्तर 200 माइक्रोग्राम नार्मल मीटर क्यू था, जो सामान्य से दुगना था। राज्य प्रदूषण बोर्ड द्वारा उठाए गए सख्त कदम के चलते धीरे-धीरे काशीपुर में वायू प्रदूषण स्तर नार्मल आ गया। एक साल से पुन: वायू प्रदूषण स्तर बढ़ने लगा जो वर्तमान में 140 से 150 माइक्रोग्राम नार्मल मीटर क्यू है। यह सामान्य से डेढ गुना है। इस बढोतरी पर चिंता जताते हुए केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड ने राज्य प्रदूषण बोर्ड ने एयर एक्शन प्लान मांगा। जिसे विभाग द्वारा बनाकर जमा करा दिया गया है।

प्रदूषण मापने के लिए लगेंगे स्‍टेशन

प्लान में काशीपुर नगर क्षेत्र में दो सीएएक्यूएमएस (कांटिन्यूअस एम्बीअंट एयर क्वालिटी स्टेशन) और दो एमएएक्यूएस (मैन्यूअल एम्बीअंट एयर क्वालिटी स्टेशन) स्थापित किए जाएंगे। सीएएक्यूएमएस की स्थापना हेतु मुरादाबाद रोड स्थित मंडी परिषद के मेन गेट व रामनगर रोड पर स्टेडियम परिसर में स्थान चिन्हित किए गए हैं। वहीं दो एमएक्यूएम गन्ना किसान केंद्र बाजपुर रोड व नैनी पेपर्स मुरादाबाद रोड पर चिन्हित किए गए हैं। इस बावत क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड देहरादून ने आठ जुलाई 2019 को एसडीएम काशीपुर को पत्र भेजकर इनके लिए जगह मांगी गई थी।

प्रदूषण को किया जाएगा कम

नवंबर में देहरादून में प्रमुख सचिव वन एवं पर्यावरण एवं अध्यक्ष प्रदूषण बोर्ड ने समस्त विभाग से संबंधित सचिवों की बैठक में सीएएक्यूएमएस लगाने के निर्देश दिए थे। जिसमें डीएम उधमसिंह नगर व डीएम देहरादून भी मौजूद थे। इस बैठक के बाद हरकत में आए प्रशासन के चलते जल्द इन स्टेशनों के लगने की उम्मीद है।

संबंधित विभागों को भेजा गया है नोटिस

अनुराग नेगी क्षेत्रीय अधिकारी प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड, काशीपुर  ने बताया कि काशीपुर में वायु प्रदूषण का स्तर सामान्य 100 से कहीं ज्यादा 150 एमएनएमक्यू है। बढ़ते प्रदूषण को रोकने के लिए आरटीओ, नगर निगम समेत कई विभागों को नोटिस भेजकर बता दिया गया है कि वह अपने अपने स्तर से बढ़ते प्रदूषण को कम करने के लिए प्रभावी कदम उठाएं।

यह भी पढ़ें : केंद्रीय सूचना आयोग ने कहा, भ्रष्टाचार के मामलों में सीबीआइ को आरटीआइ एक्ट में छूट नहीं

यह भी पढ़ें : बच्चों को मोबाइल, टीवी, लैपटॉप स्क्रीन का लती बनाकर बीमार कर रहे पैरेंट्स

 

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप