संवाद सहयोगी, खटीमा : छात्रवृत्ति घोटाले की जांच को पहुंची एसआइटी टीम ने दूसरे दिन जनजाति से जुड़े विद्यार्थियों के बयान दर्ज किए। अब तक करीब 60 छात्र-छात्राओं के बयान लिए जा चुके हैं। साथ ही घोटाले में शिक्षण संस्थानों की भूमिका की भी पड़ताल की जा रही है।

समाज कल्याण विभाग में हुए छात्रवृत्ति घोटाले की गूंज जिले भर में सुनाई दी थी। इसमें विशेषकर जनजाति के छात्र-छात्राओं की छात्रवृत्ति में बड़े गोलमाल का अंदेशा है। खटीमा विकास खंड जनजाति बाहुल्य क्षेत्र है। ऐसे में यहां के थारू जनजाति के विद्यार्थियों की छात्रवृत्ति में घपले की शिकायतें मिली थीं। इस पर एसआइटी को प्रकरण की जांच सौंपी गई है। एसआइटी के निरीक्षक एनएन पंत, एसआई भुवन चंद्र जोशी व भुवन आर्य ने क्षेत्र में डेरा डाला हुआ है। उन्होंने बुधवार को दूसरे दिन कोतवाली में क्षेत्र के दर्जनों जनजाति छात्र-छात्राओं के बयान दर्ज किए। निरीक्षक पंत ने बताया कि इस बात का पता लगाया जा रहा है कि बाहरी प्रदेशों के शिक्षण संस्थानों में अध्ययनरत जनजाति के विद्यार्थियों के खातों में छात्रवृत्ति की रकम पहुंची अथवा नहीं। इसके अलावा संस्थानों की भूमिका के बारे में भी पता लगाया जा रहा है। अब तक करीब पांच दर्जन विद्यार्थियों के बयान लिए जा चुके हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस