जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : स्पो‌र्ट्स स्टेडियम स्थित बालक एथलेटिक्स छात्रावास के खिलाड़ी को बार-बार अनुशासनहीनता करना महंगा पड़ गया। जिला क्रीड़ा अधिकारी ने अभिभावक को बुलाकर उसकी शिकायत की। साथ ही उसे हास्टल से निष्कासित कर दिया है। भविष्य में उसे छात्रावास में प्रवेश नहीं दिया जाएगा।

स्पो‌र्ट्स स्टेडियम रुद्रपुर के बालक एथलेटिक्स छात्रावास में वर्तमान में विभिन्न जनपदों के 24 खिलाड़ी प्रशिक्षण ले रहे हैं। एथलीट कोच हरीश राम जिला क्रीड़ा अधिकारी के निर्देशन में उन्हें तैयारी कराने के साथ ही हर प्रकार की सुविधाएं खाना, रहना, किट आदि उपलब्ध कराते हैं। चार वर्ष में यहां के छह खिलाड़ी सेना में भर्ती हुए हैं। हास्टल में अनुशासन बनाए रखने के लिए कड़ा कदम उठाया गया है। खटीमा के जूनियर वर्ग के धावक भूपेंद्र बिष्ट पर कई बार सहयोगियों संग मारपीट करने एवं अनुशासनहीनता करने के आरोप लगाए गए। कोरोना संक्रमण के पहले इस आचरण पर उन्हें 25 दिन के लिए निलंबित कर दिया गया था, जिससे उनके स्वभाव में सुधार आए, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। मार्च अंतिम सप्ताह में फिर से अनुशासनहीनता एवं मारपीट करने पर जिला क्रीड़ा अधिकारी ने उनके अभिभावक को बुलाकर शिकायत की साथ ही छात्रावास से निष्कासित कर दिया है। खेल निदेशालय को खिलाड़ी को निष्कासित करने की संस्तुति कर पत्र भेज दिया है।

-----------

हास्टल में 24 खिलाड़ी हैं। कई बार चेतावनी देने व सस्पेंड करने पर भी भूपेंद्र में सुधार नहीं आया, जिसके बाद उन्हें निष्कासित कर दिया गया है। इस संबंध में निदेशालय पत्र भी भेज दिया गया है। हास्टल का माहौल खराब न हो इसलिए कार्रवाई की गई है।

-रसिका सिद्दीकी, जिला क्रीड़ा अधिकारी, ऊधम सिंह नगर

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021