संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : महंगाई के विरोध में कांग्रेस के भारत बंद का यहां मिला-जुला असर रहा। सोमवार को साप्ताहिक बंदी के बाद भी कुछ दुकानें खुलीं, जिन्हें बाद में कांग्रेसियों ने बंद करा दिया। उन्होंने व्यापारियों से गरीब जनता के लिए बाजार बंद रखने की अपील की। इस दौरान भाजपा सरकार के खिलाफ नारेबाजी की गई।

महंगाई और बढ़ते पेट्रोल-डीजल के दाम पर अंकुश लगाने के लिए कांग्रेस ने सोमवार को भारत बंद की घोषणा की थी। सुबह से ही कांग्रेसी मुख्य बाजार में एकत्र हुए। वहां से वे समोसा मार्केट, लोहिया मार्केट, दुर्गा मंदिर गली, हरि मंदिर गली, पंजाबी मार्केट होते हुए पूर्व स्वास्थ्य मंत्री तिलक राज बेहड़ के नेतृत्व में इंद्रा चौक पर पहुंचे। वहां धरना-प्रदर्शन कर भाजपा सरकार पर तंज कसे गए। बढ़ती महंगाई के खिलाफ नारेबाजी भी की गई। इस दौरान बेहड़ ने कहा कि बढ़ती महंगाई से आम जनता के पसीने छूट रहे हैं। गरीब लोगों के भूखा मरने की नौबत आ चुकी है। किसान भाई आत्महत्या करने को मजबूर हैं। नगर अध्यक्ष जगदीश तनेजा ने पेट्रोल, डीजल व गैस सिलेंडर के बढ़ते दाम, राफेल विमानों के सौदे में दलाली, महिलाओं पर अत्याचार, किसानों की आत्म हत्याओं पर सरकार से जवाब मांगा। व्यापारी नेता संजय जुनेजा ने व्यापारियों से सहयोग की अपील की। इस मौके पर पूर्व पालिकाध्यक्ष मीना शर्मा, युवा नेता सुशील गाबा, मोनू निषाद, सौरभ चिलाना, हरीश बावरा, नंदलाल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran