जागरण संवाददाता, काशीपुर : पं. गो¨वद बल्लभ पंत की 131वीं जयंती पर पंत पार्क में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि तराई बसाने में पंत की अहम भूमिका है। पंत ने काशीपुर में आजादी की अलख जगाई थी। इसके लिए उन्होंने ¨हदी प्रेम सभा की स्थापना की थी।

पं. गो¨वद बल्लभ पंत स्मारक समिति के तत्वावधान में सोमवार को पंत पार्क में आयोजित कार्यक्रम में वक्ताओं ने कहा कि पंत ने लोगों में आजादी के लिए प्रेरित किया था। आजादी में उनके योगदान को कभी भुलाया नहीं जा सकता है। पंत बार एसोसिएशन के पहले अध्यक्ष थे। इससे पहले वक्ताओं ने पंत की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस दौरान रक्तदान शिविर में लोगों ने बढ़चढ़ कर हिस्सा लिया। इस मौके पर पूर्व सांसद केसी ¨सह बाबा, समिति के संयोजक दिलीप मेहरोत्रा, अधिवक्ता शैलेंद्र मिश्रा, इंदुमान, दीपक वर्मा आदि मौजूद थे। इधर, उदयराज ¨हदू इंटर कॉलेज में शिक्षकों ने पंत के चित्र पर पुष्प अíपत कर उनके योगदान को याद किया। वक्ताओं ने कहा कि अल्मोड़ा में जन्मे पंत निर्भीक व साहस के प्रतीक थे। इस मौके पर प्रधानाचार्य चौधरी सुखपाल ¨सह, सर्वेश चंद्र मिश्रा, कौशलेश गुप्ता, वेद प्रकाश यादव, मनोज विश्नोई, मुकेश मिश्रा आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran