संवाद सूत्र, गदरपुर : पुलिस ने पिकप वाहन में लोडेड खैर की अवैध लकड़ी के साथ दो युवकों को गिरफ्तार किया है। जबकि दो लोग मौके से फरार हो गए। पुलिस के मुताबिक 40 क्विंटल लकड़ी की कीमत करीब तीन लाख रुपये आंकी जा रही है। पुलिस दोनों आरोपितों की धरपकड़ को दबिश दे रही है।

शुक्रवार देर रात थानाध्यक्ष ललित मोहन जोशी और सकैनिया चौकी प्रभारी जय प्रकाश चंद्र पुलिस टीम के साथ कुआंखेडा तिराहा सकैनिया में गश्त पर थे। इसी बीच पिकअप को हाथ देकर रुकने का संकेत किया, लेकिन गाड़ी नही रुकी। पुलिस ने पीछा कर उसे रोक लिया। जब तक पुलिस उनके पास पहुंचती, तब तक दो लोग अंधेरे का फायदा उठा भाग गए। जबकि पिकअप सवार दो लोगों को पुलिस कर्मियों ने दबोच लिया। वाहन की तलाशी में उसमें खैर की लकड़ी बरामद हुई। बाद में पुलिस दोनों को थाने ले गई, जहां उन्होंने अपना नाम रिजवान अली पुत्र मोहम्मद जान निवासी झगड़पुरी और आले हसन पुत्र महेंदी हसन निवासी पत्थरकुई बताया। बताया कि उनके फरार हुए दो साथी कुरबान अली भोला पुत्र मोहम्मद जान निवासी झगडपुरी और जहूर हैं।

एसआइ जयप्रकाश चंद्र ने बताया कि बरामद लकड़ी की कीमत अंतरराष्ट्रीय बाजार में करीब तीन लाख रुपये बताई जा रही है। चारों आरोपितों के खिलाफ आईपीसी 379/411 व वन अधिनियम 26 के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

इंसेट -

पहले भी पकड़ा जा चुका कुरबान दोराहा चौकी पुलिस ने 11 अक्टूबर 2018 को खैर की 120 कुतंल लकड़ी ले जाते हुए कुछ तस्कर पकड़े थे, जिनमें कुरबान अली भोला का नाम मुख्य आरोपी के रूप में पुलिस रिकार्ड में दर्ज हुआ था। एक माह में दूसरी बार वह लकड़ी की तस्करी में पकड़ा गया।

Posted By: Jagran