संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : दो साल के इंतजार के बाद सरदार भगत ¨सह राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय में एनएसयूआइ ने परचम लहराया। अध्यक्ष पद के दावेदार अंग्रेज ¨सह ने एबीवीपी के रचित ¨सह को 273 मतों से मात दी। वहीं उपाध्यक्ष कमल पोपली और छात्रा उपाध्यक्ष पद पर प्रियंका पुनियानी विजयी रहीं। सचिव, कोषाध्यक्ष सहित पांच पदों के प्रत्याशी निर्विरोध चुने गए।

छात्रसंघ चुनाव में 10 पदों के लिए 19 उम्मीदवारों ने नामांकन दाखिल किया था। शनिवार सुबह आठ बजे से कड़ी सुरक्षा के बीच मतदान शुरू हुआ। गत वर्ष के 40 फीसद की तुलना में इस बार वोटिंग का आंकड़ा 55.46 प्रतिशत तक पहुंचा। ज्यादा वो¨टग एबीवीपी के लिए अच्छी मानी जा रही थी, लेकिन हो गया उल्टा। मतगणना शुरू होते ही रचित समर्थकों का जोश धीरे-धीरे ढलता गया। सात टेबिल पर हुई काउं¨टग में अंग्रेज ¨सह ने 273 मतों से रचित ¨सह को मात दी। अंग्रेज को कुल 1165 जबकि रचित ¨सह को 892 वोट पड़े। निर्दलीय हिमांशु पांडे को 654 तथा सूरज कुमार को 376 मत मिले। उपाध्यक्ष पद छात्र पर कमल पोपली निर्विरोध चुने गए। जबकि छात्रा उपाध्यक्ष पद पर प्रियंका पुनियानी ने 135 मतों से प्रतिद्वंदी मनदीप कौर को हराया। प्रियंका को 1420 और मनदीप को 1285 मत मिले। सचिव पद पर सचिन कुमार गंगवार निर्विरोध चुने गए। संयुक्त सचिव पद के लिए विवेक कुमार शर्मा को 1840, पुनीत गायन को 954 तथा मत मिले। इस तरह विवेक ने 886 वोट से चुनाव जीत गए। कोषाध्यक्ष पद के लिए आशू निर्विरोध चुने गए।

संकाय प्रतिनिधि विज्ञान में गुर¨वदर ¨सह को 242, अंकित श्रीवास्तव को 137, मोहित चौधरी को 121, सर्वजीत मिस्त्री को 65 मत मिले। इस तरह गुर¨वदर ने मैदान मारा। संकाय प्रतिनिधि कला एवं वाणिज्य में शिव कुमार व मनीष आचार्य निर्विरोध चुने गए। जबकि विश्वविद्यालय प्रतिनिधि में देवेश कुमार को 1786 उमेश कुमार को 1031 और मत मिले। सांस्कृतिक सचिव के लिए कोई दावेदार नहीं था। चुनाव में 78 वोट रद भी हुए हैं। इन सभी को चुनाव अधिकारी डॉ. डीकेपी चौधरी और प्राचार्य डॉ. जीएस बिष्ट ने शपथ दिलाई। बाद में पुलिस फोर्स की मदद से इन्हें घरों तक पहुंचाया गया। किसी प्रत्याशी को जुलूस निकालने की अनुमति नहीं थी। इनसेट---------------

मोबाइल लेकर अंदर पहुंची छात्रा

रुद्रपुर : मतदान करने वाले छात्र-छात्राओं को मोबाइल फोन लेकर परिसर में जाना मना था। साथ ही इसके लिए बकायदा गेट पर आठ शिक्षक तैनात थे। फिर भी एमएससी की एक छात्रा मोबाइल लेकर पहुंच गई। वापसी में शिक्षकों की नजर मोबाइल पर पड़ी तो उन्होंने इसे जब्त कर लिया। हालांकि कुछ देर बाद हिदायत देकर मोबाइल छात्रा को वापस कर दिया गया। ------------------

चुनाव के दौरान जूलूस निकालते रहे छात्र

सुबह आठ बजे से ही प्रत्याशी गेट के अंदर वोटरों से अपने पक्ष में मतदान करने की अपील करने में जुटे थे। तो उनके समर्थक भी कोई कसर नहीं छोड़ रहे थे। मुख्य द्वार से लेकर दो सौ मीटर के दायरे में जमकर जुलूस और नारेबाजी की गई।

------------------

दो सौ आइकार्ड बने और मुहर लगी

रुद्रपुर : चुनाव के पहले मी¨टग के दौरान बिना आइकार्ड कालेज में प्रवेश देने से वर्जित किया गया था। वहीं सुबह से ही कई छात्र-छात्रा ऐसे थे, जिनके पास आईकार्ड नहीं था। कुछ के आइकार्ड पर मुहर और हस्ताक्षर नहीं थे। इस पर करीब ढाई सौ आइकार्ड संशोधित व नए बनाए गए।

Posted By: Jagran