जागरण संवाददाता, काशीपुर : किसी भी कर्मचारी का शोषण बर्दास्त नहीं किया जाएगा। यदि कोई भी चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी का शोषण करता है तो आंदोलन कर इसकी लड़ाई लड़ी जाएगी। महिला कर्मचारी के उत्पीड़न के बाद चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों की आपात बैठक की गई। जिसमें कई ¨बदुओं पर चर्चा कर निर्णय लिया गया।

रामनगर रोड स्थित एलडी भट्ट राजकीय चिकित्सालय के चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों ने रविवार को एक आपात बैठक की। इस दौरान कर्मचारियों ने चिकित्सा अधीक्षक पर कर्मचारियों के उत्पीड़न का आरोप लगाया। चतुर्थ श्रेणी कर्मचारी संगठन के जिलाध्यक्ष कैलाश जोशी व जिला मंत्री भूपाल ¨सह की अध्यक्षता में आयोजित हुई बैठक में कर्मचारियों ने कहा कि आएदिन चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का उत्पीड़न किया जा रहा है। महिला कर्मचारी का 15 दिन का मेडिकल अवकाश स्वीकृत न करके उसे एडी कार्यालय नैनीताल भेज दिया गया। जहां पर पता चला कि चिकित्सा अवकाश वहां से स्वीकृत न होकर अस्पताल से ही होगा। जबकि महिला छह माह बाद सेवानिवृत्त हो रही है। कहा कि इन सभी उत्पीड़नात्मक कार्यों से जिला इकाई को अवगत कराया गया है। जिलाध्यक्ष जोशी ने कर्मचारियों को संबोधित करते हुए कहा कि चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों का उत्पीड़न किसी भी कीमत पर बर्दास्त नहीं किया जाएगा। इस अवसर पर जिला शाखा का भी गठन किया गया। इस मौके पर शाखाध्यक्ष रईश अहमद, शाखा मंत्री दीपक कुमार, रमेश चंद्र जोशी, कैलाश पपनै, अशोक, बबलू, यशपाल ¨सह, संजीव, दिनेश कुमार, ब्रज राज, नेहा जोशी आदि मौजूद रहे।

Posted By: Jagran