संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : नकली दवाइयों की रोकथाम व नशीली दवाइयों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से अपर जिलाधिकारी प्रताप ¨सह शाह ने अधिकारियों व मेडिकल स्टोरो मे तैनात कैमिस्टों, फार्मासिस्टों की बैठक के दौरान कहा कि किसी भी हाल में बिना ओपीडी नंबर वाले दवा पर्ची की दवा न दें। कहा कि ओपीडी नंबर होने पर ही दवा उपलब्ध कराई जाए। नकली दवाइयों की रोकथाम व नशीली दवाइयों पर अंकुश लगाने के उद्देश्य से मंगलवार को अपर जिलाधिकारी व जगदीश चंद्र कांडपाल की अध्यक्षता में एपीजे अब्दुल कलाम सभागार में मेडिकल स्टोरों में तैनात कैमिस्टों/फार्मासिस्टों की बैठक की गई। बैठक में अपर जिलाधिकारी ने ड्रग कंट्रो¨लग ऑफिसर हेमंत ¨सह नेगी को किसी भी थोक लाइसेंस के नए आवेदन पर विचार न करने के निर्देश दिए। एडीएम जगदीश चंद्र कांडपाल ने एसोसिएशन के पदाधिकारियों से अनुरोध करते हुए कहा जनपद में बढ़ रहे नशे की लत को देखते हुए किसी भी बच्चे को नशीली दवाइयां उपलब्ध न कराएं। बैठक में सीएमओ डॉ. शैलजा भट्ट, डिप्टी सीएमओ अविनाश खन्ना, ड्रग कंट्रो¨लग ऑफिसर हेमंत सिह नेगी, रजत बत्रा, समीर चतुर्वेदी, प्रदीप गाबा, रोशन लाल सुखिजा, राजकुमार भुडिया, किशोर उपाध्याय, पवन कुमार, तरुण यादव, एमपी ¨सह, योगेश विश्नोई, दीप चंद्र भट्ट, सुरज मौजूद रहे।

Posted By: Jagran