जागरण संवाददाता, सितारगंज : नशे के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में पुलिस को एक बड़ी सफलता मिली है। पुलिस टीम ने चीकाघाट के पास एक फार्म हाउस में अंग्रेजी शराब बनाने की फैक्ट्री पकड़ी है। फैक्ट्री में चंडीगढ में बिकने वाली हाईस्पीड ब्रांड की शराब बनती थी। पुलिस के छापे में फैक्ट्री से 148 पेटियां व शराब बनाने की मशीन, खाली बोतले, रैपर आदि तमाम सामान बरामद हुआ है। शराब की सप्लाई करने वाली टाइगो कार भी पुलिस के हाथ लग गई है। शराब बनाने वाले चंडीगढ व पंजाव के दो व्यक्ति भी शराब बनाते रंगे हाथ पकड़े गए हैं। लेकिन फैक्ट्री मालिक पुलिस के हाथ नहीं लग पाया है। जिसकी खोज में टीम लगा दी गई है। शराब की फैक्ट्री पकड़े जाने से क्षेत्र मे हड़कंप मच गया ह । फैक्ट्री में बनी शराब की सप्लाई सितारगंज से लेकर खटीमा तक की जा रही थी। मौके से पुलिस ने बेची गई शराब की बयालीस हजार की रकम भी बरामद की है।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक वरिदरजीत सिंह ने मंगलवार की शाम पत्रकारों को बताया कि मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम ने चीकाघाट के पास रसोइयापुर मार्ग पर स्थित एक फार्म हाउस में छापा मारा। जहां दो व्यक्ति अंग्रेजी शराब बनाते रंगे हाथ पकड़े गए। बताया कि फार्म हाउस के तीन कमरों में फैक्ट्री लगाई गई थी। जहां पर हाईस्पीड ब्रांड की शराब बनाई जा रही थी। यह शराब चंड़ीगढ़ में बनती और मिलती है। छापे के दौरान फैक्ट्री में 148 पेटियां हाई स्पीड व्यिस्की यानि 1776 बोतलें,अंग्रेजी शराब बनाने की मशीन, दो हजार लीटर क्षमता का ड्रम, मोटर पाइप,550 खाली बोतले,ढक्कन,2150 रेपर,140 गत्ते की पेटियां मौके से बरामद की गई है। साथ ही शराब बना रहे चंडीगढ के सेक्टर 28 बी, थाना सैक्टर 26 के हाउस नंबर 1088 के निवासी गगन शर्मा 35 वर्ष पुत्र यशपाल शर्मा व पंजाब के रोपड़ थाना के श्री गांधी नगर के मकान नंबर 1603 बी निवासी जगजीत सिंह 35 वर्ष पुत्र प्रभुदेव सिंह को मौके पर ही पकड़ लिया गया। फार्म हाउस व फैक्ट्री संचालक सितारगंज के खटीमा रोड अमर होटल निवासी अवतार सिंह पुत्र मलकीत सिंह मौके पर नहीं मिला। जिसकी तलाश की जा रही है। एसएसपी ने बताया कि फैक्ट्री में बनने वाली शराब की सप्लाई सितारगंज,नानकमत्ता,खटीमा व डिमांड पर अन्य क्षेत्रों में भी अवतार सिंह की टाइगो कार सीएचओ-1बीवी 6492 से की जा रही थी। कार को भी पुलिस ने कब्जे में ले लिया है। उन्होंने बताया कि पकड़े गए दोनों अभियुक्तों गगन शर्मा व जगजीत सिंह आदि के खिलाफ धारा 420,467,468,471,272्र,273 व आबकारी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया गया है।

इनसेटगैंगेस्टर की भी होगी कार्रवाई:एसएसपी

सितारगंज:एसएसपी ने बताया कि शराब बनाने का संगठित गिरोह निकला तो गैंगेस्टर की कार्रवाई भी होगी। उन्होने बताया की मामले की छानबीन की जा रही है। बनाई गई शराब मानक के अनुरूप है या नही, जिस ब्रांड का लेबिल लगाया जा रहा था। उसकी स्वीकृति आदि तमाम बिदुओं की जांच कराई जा रही हैं। विवेचना में जो भी सामने आएगा। उसके तहत कार्रवाई की जाएगी। कापीराइड का मुकदमा भ विवेचना के बाद होगा। बरामद की गई शराब क क्वालिटी क्या है इसकी भी जांच होगी।

इनसेटचंड़ीगढ़ से आता था कैमिकल व स्प्रिट

सितारगंज:अंग्रेजी शराब बनाने के लिए कैमिकल व स्प्रिट चंडीगढ़ से लाई जा रही थी। पकड़े गए दोनों युवक कैमिकल व स्प्रिट लेकर फैक्ट्री पहुंचे थे। वह शराब बनाने के मिस्त्री थे। दोनो सामग्री लाकर शराब बनाते थे । दोनों फैक्ट्री के कर्मचारी बताए जा रहे हैं।

इनसेट

पंचायत चुनाव में भी की गई शराब की सप्लाई

सितारगंज: फैक्ट्री में बनाई गई शराब की सप्लाई दो-तीन बार पंचायत चुनाव में भी की गई थी। एसएसपी ने बताया कि गिरफ्तार किए गए दोनों युवकों ने बताया कि पच्चीस पेटी की सप्लाई पंचायत चुनाव के लिए दो-तीन बार की जा चुकी है।इनसेटपुलिस टीम पर ईनामो की बौछार

सितारगंज:फैक्ट्री पकड़े जाने के बाद पुलिस टीम पर ईनामों की बौछार हो गई। डीआइजी ने पांच हजार व एसएसपी ने ढाई हजार रूपए ईनाम देने की घोषण की है। पुलिस टीम में सीओ सुरजीत कुमार,कोतवाल संजय गब्र्याल,एसएसआई बीएस बिष्ट,मदन मोहन जोशी, एसआई धीरज वर्मा, अमित शर्मा, सिपाही नरेंद्र यादव, जगदीश लोहनी,बलवंत सिंह,व सुनील कुमार शामिल है।-----------------

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप