संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : नजूल भूमि पर मालिकाना हक दिलाने की मांग को लेकर सपा कार्यकर्ताओं ने खून से लिखा पत्र सीएम को भेज कर नजूल भूमि पर बसे परिवारों को न उजाड़ने की मांग की है।

हाई कोर्ट ने तीन सप्ताह में भदईपुरा स्थित नजूल भूमि पर बसे घरों को उजाड़ अतिक्रमणमुक्त करने के आदेश दिए हैं। आदेश आने के बाद से लोगों में भय व्याप्त है। इसके खिलाफ में सपा कार्यकर्ता भी आंदोलन कर रहे है। मंगलवार को सपा कार्यकर्ता सपा प्रदेश महसचिव तेजेंद्र ¨सह विर्क के नेतृत्व में दूधियानगर में एकत्र हुए। इस दौरान सपा प्रदेश महसचिव ने मुख्यमंत्री को नजूल भूमि में मालिकाना हक दिलाए जाने को खून से पत्र लिखा। जिसमें कहा कि भदईपुरा में लोग कई सालों से इस भूमि पर बसे हैं। उन्हें न उजाड़ा जाय। इस संबंध में सरकार विधानसभा का विशेष सत्र बुलाकर कानून बनाए। ताकि 20 हजार परिवारों को उजड़ने से बचाया जा सके। इस मौके पर सुरेंद्र ¨सघल, ओम प्रकाश गंगवार, अय्यूब अंसारी, शिया राम, राहुल, अजय कुमार, राम ¨सह सागर, शिया राम गंगवार, राहुल यादव, शिशु पाल यादव आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran