जासं, काशीपुर : आइआइएम संस्थान ने एमबीए सीरीज अकादमिक समिति द्वारा आयोजित कार्यक्रम विषय 'एक गैर-कारपोरेट नजरिये से प्रबंधन' के तहत कप्तान विनय सिंह को आमंत्रित किया गया। इस दौरान उन्होंने छात्रों के साथ अपने एनडीए के अनुभव साझा करने के साथ एमबीए के छात्रों को नैतिक मूल्य के महत्व को बताया।

कुंडेश्वरी एस्कार्ट फार्म स्थित आईआईएम संस्थान में कप्तान विनय सिंह को एमबीए सीरीज के तीसरे चरण के लिए आमंत्रित किया। एमबीए सीरीज अकादमिक समिति द्वारा शनिवार को आयोजित कार्यक्रम में कप्तान विनय सिंह ने शिरकत की। सत्र का उद्घाटन डा.विवेक राय असिस्टेंट प्रोफेसर, आपरेशन मैनेजमेंट, आइआइएम काशीपुर ने किया। इस दौरान कप्तान सिंह ने अपने संवाद की शुरुआत इंडियन आर्मी डे (15 जनवरी) और इंडियन वेटेरन डे (14 जनवरी) का उल्लेख करते हुए की। उन्होंने छात्रों से अपने परिवार और करियर की शुरुआत के बारे में बताया साथ ही अपना एनडीए का अनुभव साझा करते हुए उन्होंने सीख दी कि कोई भी कार्य असंभव नहीं होता है। ट्रेनिग के दौरान जब भी उन्हें कोई कार्य दिया जाता था, उन्हें सफलतापूर्वक करना ही होता था। इसी प्रशिक्षण से उनमें आत्मविश्वास और प्रतिबद्धता का संचार हुआ। उन्होंने एम्प्लोयी इंगेजमेंट की महत्ता पर भी प्रकाश डाला और यह कहते हुए अपनी यूनिट के प्रति अपना समर्पण व्यक्त किया कि मेरी यूनिट का नाम नहीं खराब होना चाहिए, भले ही जान क्यों ना त्यागनी पड़ जाए। कहा वह कमांड में होने को अपना सबसे बड़ा इनाम मानते हैं। उन्होंने एक लीडर के प्रमुख गुण भी बताये। कप्तान सिंह ने ईमानदार, विनम्र और विचारशील बनने को ही एक असल लीडर की विशेषताएं बताई।

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप