जासं, काशीपुर : भाजपा विधायक हरभजन सिंह चीमा ने एनएच-74 घोटाले मामले में एसआइटी की जांच पर सवाल खड़े कर दिए हैं। उन्होंने घोटाले का सबसे बड़ा जिम्मेदार सफेदपोश बिचौलियों को ठहराया है। विधायक चीमा ने एसआइटी द्वारा सफेदपोश नेताओं को बचाने की बात कही है।

यूएसनगर जिले में लंबे समय से एनएच-74 घोटाले की जांच चल रही है। प्रदेश सरकार ने घोटाला उजागर करने के लिए एसआइटी की टीम का गठन किया था। जिसके चलते कुछ आइपीएस, आइएएस और किसान भी जेल की हवा खा चुके हैं, लेकिन एसआइटी की टीम द्वारा जांच को अभी तक पूरा नहीं किया गया है। घोटाले में 148 किसानों की गिरफ्तारी का नोटिस जारी किए जाने से आक्रोशित भाजपा विधायक चीमा ने रविवार को अपने आवास पर पत्रकार वार्ता की। विधायक हरभजन ने बताया कि जबसे एनएच-74 के लिए सरकार ने किसानों से भूमि की खरीद की है। तबसे ही घोटाला पनपने लगा है। उन्होंने कहा कि एसआइटी की टीम कई सफेदपोश नेताओं और दलालों को बचाने का काम कर रही है। जिसको लेकर उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत को भी अवगत करा दिया है। विधायक सिंह ने कहा की घोटाले की राशि का करीब 50 फीसद से भी अधिक हिस्सा बिचौलियों को गया है। बाकी हिस्से में अधिकारी और किसान शामिल हैं।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस