काशीपुर। कंपनी में निवेश कर रकम दोगुनी करने का झांसा देने के मामले में दंपती समेत तीन लोगों के खिलाफ कोतवाली में मुकदमा दर्ज किया गया है। तीनों आरोपी दिल्ली के हैं।
काशीपुर में रेनवो मल्टी लेबल ट्रेडमार्क प्रा.लि. कंपनी के निदेशक जितिन चावला ने इस आशय की तहरीर कोतवाली में दी। उन्होंने बताया कि कंपनी के संस्थापक ललित जुनेजा के संपर्क नई दिल्ली, रोहिणी निवासी श्याम सुंदर गुप्ता से थे। श्याम सुंदर के साथ उनकी पत्नी सरोज गुप्ता और रोहिणी के ही सुरेंद्र मेहरवाल अक्सर कंपनी में आते रहते थे।
उन्होंने बताया कि उनका भी इन तीनों से अच्छा परिचय हो गया था। वर्ष 2011 में कंपनी के संस्थापक ललित की मृत्यु हो गई। इसके बाद भी उपरोक्त लोगों का कंपनी में आना जाना था।
आरोप है कि वर्ष 2012 में तीनों ने उन्हें एक कंपनी में निवेश करने को कहा। इसके पलिए झांसा दिया कि निवेश करने पर रकम जल्द दोगुनी हो जाएगी। इस पर उन्होंने 15 जून 2012 को डीएमसी एजुकेशन और ट्रेडिंग प्रा.लि. दिल्ली की कंपनी के खातों में चेक से दो करोड़ की रकम जमा कराई।
आरोप है कि तीनों ने उक्त रकम हड़प ली। रकम मांगने पर वे जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। तहरीर पर पुलिस ने श्याम सुंदर, उसकी पत्नी सरोज और सुरेंद्र के खिलाफ धोखाधड़ी और धमकी देने की धाराओं में मुकदमा दर्ज कर लिया है।
पढ़ें-विदेश में नौकरी का झांसा देने वाले तीन कबूतरबाज गिरफ्तार

Posted By: Bhanu