जागरण टीम, काशीपुर : एक व्यक्ति ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बैंक की फर्जी पासबुक बनाकर तीन लाख 75 हजार रुपये हड़पने का आरोप लगाया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

मोहल्ला सिघान निवासी रमेश सिंह ने कोतवाली पुलिस को तहरीर देकर बताया कि रतन सिनेमा रोड पर उनकी दुकान है। बैंक में दैनिक योजना के अन्तर्गत खाता चलाया है। दैनिक प्राप्ति मुखर्जी नगर का युवक करता है। उसके गैरमौजूदगी में मोहल्ला सिघान के तीन लोग कलेक्शन करते थे। रमेश सिंह ने बताया कि उसने अपनी जिम्मेदारी पर युवक को दो लाख रुपये का ऋण दिलाया। उसकी कुछ दिन पहले मौत हो चुकी है। उसने अपनी रकम वापस लेने के लिए कहा तो उक्त लोग टालमटोल करने लगे। इसके बाद बैंक में पता किया तो अधिकारियों ने बताया कि उसका कोई खाता नहीं है और पासबुकें फर्जी बनाकर दी गई हैं। शनिवार सुबह अपनी रकम लेने उनके घर गया तो हमला कर दिया। पुलिस जांच कर रही है।

--------

आइडी हैक कर 10 लाख की लकड़ी की इंट्री

संसू, जसपुर : पंजीकृत लकड़ी ठेकेदार की आइडी हैक कर उसकी आइडी पर दस लाख रुपये की रद्दी लकड़ी की लॉट चढ़ा दिया गया। पीड़ित ठेकेदार ने पुलिस को तहरीर दी है।

वन निगम लकड़ी बिक्री को अब ई टेंडरिग की प्रक्रिया अपनाता है। इसमें केवल निगम में पंजीकृत ठेकेदार ही ऑनलाइन प्रतिभाग करते है। विभाग लकड़ी की गुणवत्ता एवं संख्या बताकर नीलामी करता है। जसपुर के लकड़ी व्यापारी भी इस प्रक्रिया में भाग लेते हैं। नीलामी में लकड़ी खरीदने के बाद ठेकेदार को तीन दिन में लॉट की जमानत राशि विभाग में जमा करनी होती है। नहीं तो विभाग ठेकेदार के खिलाफ कार्रवाई करता है।

शुक्रवार को लकड़ी ठेकेदार वसीम अहमद की आइडी हैक कर ली गई। रामनगर, कालाढूंगी डिपो में हुई नीलामी में ली गई करीब दस लाख रुपये की रद्दी लकड़ी की लॉट चढ़ा दी गई। जबकि ठेकेदार वसीम इस तरह की प्रकाष्ठ का व्यापारी ही नहीं है। मामले में जानकारी होने पर वसीम ने वन अफसरों समेत पुलिस को तहरीर देकर कार्रवाई की मांग की है। वन विकास निगम के एमडी जेके शर्मा ने बताया कि मामले की जानकारी मिलने पर कार्रवाई कराई जाएगी।

Edited By: Jagran