संवाद सहयोगी, पिथौरागढ़ : बंगापानी तहसील के आलम-दारमा क्षेत्र के आधा दर्जन गांवों के लोग पांच माह बाद भी आपदा की चोट से नहीं उबर पाए हैं। गांवों की पेयजल आपूर्ति ठप पड़ी है। स्रोतों का जल स्तर गिरने से पेयजल संकट गहरा गया है। परेशान क्षेत्रवासियों ने बुधवार को जिला मुख्यालय में प्रशासनिक अधिकारियों को अपनी समस्या से अवगत कराते हुए समाधान की मांग की।

जुलाई माह में हुई भीषण बारिश से आलम दारमा, द्वारीशिलिंग, उमरगड़ा, गैला पत्थरकोट, झापुली, गांधीनगर गांव को पेयजल की आपूर्ति करने वाली पेयजल योजना क्षतिग्रस्त हो गई है। पांच माह बाद भी पेयजल योजना का पुनर्निर्माण नहीं हो सका है। मुख्यालय पहुंचे ग्रामीणों ने बताया कि अभी तक प्राकृतिक जल स्रोतों से ग्रामीण अपनी जरू रत पूरी कर ले रहे थे अब ग्रामीणों को पानी का इंतजाम करने के लिए कई किलोमीटर दूर नदियों तक जाना पड़ रहा है। प्रशासन और पेयजल महकमे को कई बार परेशानी से अवगत कराया जा चुका है, लेकिन अभी तक क्षतिग्रस्त पेयजल योजना को ठीक करने की दिशा में कोई पहल नहीं की गई है। ग्रामीणों ने एसडीएम को ज्ञापन सौंपकर मांग की कि क्षतिग्रस्त पेयजल योजना को अविलंब ठीक कराया जाए। ज्ञापन सौंपने वालों में ऋषेंद्र महर, विक्रम दानू, गोविंद सिंह, डिगर सिंह सहित तमाम लोग मौजूद थे।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस