ससं, जसपुर : मंगलवार को मुसलमान पहला रो•ा रखेंगे। सोमवार को मस्जिदों में तरावीह अदा की गई। उलेमाओं के मुताबिक रमजान में शैतान को कैद कर दिया जाता है। मदरसा बदरूलउलुम के प्रधानाचार्य बताते हैं कि रम•ान मुबारक हिजरी कैलेंडर में खास अहमियत रखता है। इस महीने में कुरान मुकद्दस नाजिल हुआ था। इस महीने में नेकियों का सवाब 10 गुना कर दिया जाता है। नफि़ल का सवाब फर्ज के बराबर और एक फर्ज का सवाब 70 फर्जों के बराबर हो जाता है। इस महीने में जन्नत के दरवाजे खोल दिए जाते हैं, और दोजख के दरवाजे बंद कर दिए जाते हैं।

-------------------

जमकर बिका इफ्तार का सामान

नगर के मैन बाजार, बारी चौक, सब्जी मंडी में दोपहर बाद से रो•ादारों की भीड़ इफ्तार के सामान खरीदने को उमड़ी रही। वहीं नगर के जामा मस्जिद, चौहनान, नई बस्ती, चांद मस्जिद, मदीना मस्जिद चौक, इमरान चौक आदि जगहों पर अस्त्र की नमाज के बाद से ठेले एवं दुकानों पर चाट पकौड़ी, बिरयानी, खजूर, डबल रोटी, खजला आदि सामान खरीदने को रो•ोदार डटे रहे।

------------------

रोजेदारों को बांटे रमजान के कैलेंडर

रोजेदारों के लिए दीनी कैलेंडर बंटवाए गए। सहरी, इफ्तार के समय का कैलेंडर सूरज निकलने ओर छिपने के वक्त के हिसाब से तैयार किए गए हैं। इस समय प्रिटिंग प्रेसों पर कैलेंडरों की बुकिग चल रही है। साथ ही बडे़ एवं छोटे साइज के कैलेंडरों को बांटा जा रहा है। मदरसों की कमेटियों के बड़े कैलेंडरों पर रमजान की सहरी, इफ्तार के टाइम के साथ वाíषक कैलेंडर भी छपा है। कैलेंडरों पर रमजान की जरूरी हिदायत एवं कुरान की आयतें भी छपी हैं। कैलेंडर मस्जिदों मे नमाजियों एवं रोजेदारों को बांटे गए।

आज़ादी की 72वीं वर्षगाँठ पर भेजें देश भक्ति से जुड़ी कविता, शायरी, कहानी और जीतें फोन, डाउनलोड करें जागरण एप

Posted By: Jagran