संवाद सूत्र, जसपुर : डीआइजी जगतराम जोशी बुधवार को कोतवाली परिसर में जनसंवाद कार्यक्रम के तहत आम लोगों से रूबरू हुए। इस दौरान लोगों ने पीपी तिवारी कालेज मार्ग पर अवैध पाíकंग, मुख्य बाजार में दुकानों के आगे रखे सामान से हो रही परेशानी, ग्रामीण तथा नगर क्षेत्र में बिक रही कच्ची शराब व नशे के कैप्सूल, नो एंट्री न होने से मुख्य बाजार में लग रहे जाम, मनचलों का छात्राओं से छेड़छाड़ करना, बारात घरों द्वारा देर रात तक डीजे बजाने, चोरी का खुलासा न होने व चोरी की रिपोर्ट दर्ज न करने समेत पुलिस पर अवैध वसूली का आरोप आदि की शिकायत की।

इस पर डीआइजी ने एएसपी राजेश भट्ट को जांच के लिए निर्देशित कर रिपोर्ट सौंपने को कहा। उसके बाद दोषी पुलिस कर्मियों के खिलाफ कार्रवाई का यकीन दिलाया। डीआइजी ने सुरक्षा व्यवस्था के लिहाज से प्रत्येक प्रतिष्ठान पर कैमरे लगाए जाने की ताकीद की। डीआइजी की मांग पर विधायक आदेश चौहान ने स्टीमेट के बाद जरूरत के तहत विधायक निधि से कैमरे लगाने की घोषणा की। पूर्व विधायक डॉ.शैलेंद्र मोहन सिघल ने अपराधियों का चौकी में बैठने पर एतराज जताते हुए धाíमक स्थलों के लाउडस्पीकर की ध्वनि नियंत्रण किए जाने का मशवरा दिया। इसके बाद डीआइजी ने कोतवाली स्थित माल खाना, लॉकप, कार्यालय, बैरक आदि का निरीक्षण कर निर्देश दिए। पुलिस कर्मियों से उनकी परेशानी व पुलिस व्यवस्था के बारे में पूछा तो सभी ने कहा कि सर हम सब खुश हैं। बैठक में मो.यामीन, संजय, बलराम, नासिर, हरिओम, रंजीत, सुधीर आदि मौजूद रहे।

-------------

सारथियों की होगी पुन: समीक्षा

जसपुर : सारथी बनाए जाने के बाद पहली बार डीआइजी उनकी कार्यप्रणाली को जानने के लिए यहां आए तो लोगों ने पुलिस पर गलत लोगों को सारथी बनाए जाने की शिकायत की। इस पर डीआइजी ने एएसपी राजेश भट्ट को सारथियों की पुन: समीक्षा कर सही लोगों को सारथी बनाए जाने के निर्देश दिए। उधर, डीआइजी ने चौकीदारों के साथ बैठक कर उन्हें सतर्क रहने के निर्देश दिए। इस पर उन्होने पिछले सात माह के वेतन दिलाए जाने की मांग की।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस