संस, गूलरभोज : नगर के व्यापारी को उपचार के वास्ते 108 एंबुलेंस वक्त पर उपलब्ध नहीं हो सकी। नतीजतन व्यापारी की मौत हो गई। परिजनों ने 108 के औचित्य पर सवालिया निशान उठाते हुए कार्रवाई की बात कही।

नई बस्ती रोड पर नरेश कोली (55)की पुरानी आटा चक्की है। बीती रात करीब एक बजे उनके सीने में तेज दर्द उठा। हालत बिगड़ती देत उनके छोटे भाई बाबूराम ने काफी जद्दोजहद के बाद 108 पर संपर्क किया। जहां से गदरपुर और बाजपुर क्षेत्र से एंबुलेंस खाली नहीं होने का जवाब मिला। बमुश्किल डेढ़ घंटे के बाद निजी वाहन की व्यवस्था कर परिजन रु द्रपुर निजी अस्पताल ले गए, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी। यहां चिकित्सक ने उनको मृत घोषित कर दिया। परिजनों का आरोप है कि यदि समय से 108 एंबुलेंस मिल जाती तो उनको बचाया जा सकता था। गुस्साए परिजनों ने 108 के औचित्य पर सवाल उठाते हुए कार्रवाई की बात कही। इधर शाम को गमगीन माहौल में व्यापारी का अंतिम संस्कार कर दिया। शोक में आधे दिन व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे।

Posted By: Jagran