जागरण संवाददाता, किच्छा : बढ़ती महंगाई और पेट्रोलियम पदार्थो की शिखर छूती कीमतों के खिलाफ कांग्रेस के भारत बंद को किच्छा की जनता का समर्थन नहीं मिल पाया। मुंह देखी व्यापारियों ने जुलूस के दौरान दुकानें बंद रखी। जैसे-जैसे कांग्रेस कार्यकर्ता जुलूस लेकर आगे निकलते चले गए बाजार खुलता चला गया।

किच्छा की जनता ने कांग्रेस के भारत बंद के आह्वान को सिरे से नकार दिया। सुबह व्यापारी दुकान खोलने को लेकर असमंजस की स्थिति में जरूर दिखाई दिया। लेकिन व्यापारी आधा शटर उठाए अपनी दुकान के बाहर डटा हुआ था। इसी दौरान कांग्रेस कार्यकर्ता नगर कार्यालय से जुलूस के रूप में बाजार की तरफ निकले और उन्होंने बाजार बंद करवाना शुरू कर दिया। उनकी अपील पर व्यापारियों ने मुंह देखा देखी शटर गिरा लिए। मुख्य बाजार से जैसे ही कांग्रेस कार्यकर्ताओं का जुलूस बाहर निकला व्यापारियों ने दुकान के शटर उठाने शुरू कर दिया। 11 बजे तक बाजार पूरी तरह से खुल गया था। बंद का साप्ताहिक बाजार पर भी कोई असर दिखाई नहीं दिया। बाहर से आने वाले व्यापारियों ने हॉट में अपनी दुकाने लगा सुबह से ही कारोबार शुरू कर दिया था। इस दौरान नगर अध्यक्ष भूपेंद्र चौधरी, निवृतमान पालिकाध्यक्ष महेंद्र चावला, संजीव कुमार ¨सह, डॉ. गणेश उपाध्याय, सुरेश पपनेजा, हरीश पनेरू, मेजर ¨सह, दर्शन कोली, छोटे लाल कोली, दिलीप बिष्ट, नितिन शर्मा, किशोर आयलानी, अफजाल शेरी, कन्हैया ¨सधी, हरीश खानवानी, धर्मेंद्र ¨सधी आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran