संवाद सहयोगी, बाजपुर : उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग के निदेशक हरजिदर सिंह बबेजा ने गुरुवार को कुमाऊं का दौरा किया। इस बीच उन्होंने बाजपुर क्षेत्र की बागवानी का निरीक्षण किया। बेहतर कार्य करने पर अधिकारियों की पीठ थपथपाई, वहीं गलत कार्य करने वाली कंपनियों को ब्लैक लिस्टेड करने का निर्देश दिया।

बबेजा टीम के साथ पहले ग्राम टांडा आजम में रूबी सिघल व बालकिशन सिघल की अमरुद की बागवानी में पहुंचे। उन्हें बताया गया कि तीन हेक्टेयर में 3333 पौधे रोपे गए हैं। इसी प्रकार प्रभुशरण सिंह गोराया की ओर से तैयार एल-49 बीएनआर-1 केजी, थाईलैंड पी-9, ऐश्वर्या, धबल, ललित प्रजातियों के पौधों का निरीक्षण किया।

इस बीच उन्होंने कहा कि बागवानी को प्रोत्साहन देने के लिए नर्सरी आवश्यक है। इसमें प्रभुशरण सिंह गोराया का कार्य सराहनीय है। गोराया ने बताया कि अब वह अन्य फसलों को छोड़कर बागवानी की ओर अग्रसर हैं। इससे उन्हें अन्य फसलों के मुकाबले लगभग दोगुनी आमदनी हो रही है। इसी प्रकार

मुड़ियामनी में विनोद चौधरी के अमरुद के बाग का निरीक्षण किया। मुख्य उद्यान अधिकारी हरीश तिवारी को निर्देशित किया कि वह संबंधित से मिलकर इस प्रजाति के पौधों को मंगाने का प्रयास करें, जिससे तराई में बेहतर अमरुद की पैदावार हो सके।

इस दौरान ड्रिप सिचाई में मिली शिकायत के संबंध में कंपनियों को ब्लैकलिस्टेड करने का निर्देश दिया। चेताया कि गलत कार्य करने वाली किसी भी कंपनी से भविष्य में काम न कराया जाय। इसके बाद वह ग्राम चनकपुर में गुरबक्श सिंह की फूलों की खेती देखने पहुंचे।

इस मौके पर उद्यान निरीक्षक आरके सिंह, सुभाष रियाल, केएल सागर, रवींद्रजीत सिंह, शंकर लाल, हरप्रीत सिंह, डा. शंत लाल अरोरा, कविता भाटिया, यामिनी, अनीता, वर्षा, मेजर जयदीप सिंह, डा.राजवीर सिंह भी मौजूद रहे।

Indian T20 League

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

kumbh-mela-2021