संवाद सहयोगी, बाजपुर : ग्राम प्रधान व उनके पति पर मकान एवं शौचालय बनवाने के नाम पर पैसे लेने के बावजूद भी भवन निर्माण की प्रक्रिया शुरू नहीं होने से ग्रामीण भड़क उठे। प्रधान के खिलाफ एसडीएम दफ्तर में ज्ञापन देकर प्रदर्शन किया। इसके पश्चात ब्लॉक कार्यालय में भी शिकायती पत्र दिया।

सोमवार को ग्राम पंचायत रामजीवनपुर के दर्जनों महिला-पुरुष एकत्रित होकर एसडीएम कार्यालय पहुंचे, जहां पूर्व ग्राम प्रधान बाबूराम तोमर के नेतृत्व में जोरदार प्रदर्शन व नारेबाजी की गई। कहा कि ग्राम प्रधान व उनके पति ने सरकार से मिलने वाले अनुदान के माध्यम से मकान बनवाने के नाम पर बीस-बीस हजार व शौचालय हेतु दो-दो हजार रुपये लिए थे, लेकिन अभी तक भवन निर्माण की कोई भी प्रक्रिया प्रारंभ नहीं हुई है। इसके अलावा वृद्धावस्था, विधवा, दिव्यांग पेंशन लगवाने, गरीब परिवारों की बेटियों की शादी करवाने तथा बिजली कनेक्शन दिलवाने आदि के नाम पर भी भोलेभाले ग्रामीणों से पैसे वसूले जा चुके हैं। आरोप लगाया कि ग्राम पंचायत में मनरेगा के तहत हुए विकास कार्यों की धनराशि अपने चहेते लोगों के बैंक खातों में डालकर हड़प कर ली गई है। उन्होंने पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कर कार्रवाई की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में विजयपाल, गंगाराम, कुंवरवती, राममूíत, नेतवती, गंगा देई, मीना, कुसुम, प्रेमवती, कस्तूरी, उíमला देवी, सोमवती, राधा, रमेश, पुरुषोत्तम मौजूद रहे।

Posted By: Jagran