जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : दशमोत्तर छात्रवृत्ति में लाखों की छात्रवृत्ति हड़पने वाले उप्र, राजस्थान और हरियाणा के नौ और शिक्षण संस्थानों पर एसआइटी शिकंजा कसेगा। अब तक की जांच में मिले साक्ष्य के आधार पर जल्द एसआइटी इनके खिलाफ केस दर्ज करेगी। साथ ही कुछ बिचौलियों की संलिप्तता की पुष्टि की जांच की जा रही है।

ऊधमसिंहनगर में अब तक एसआइटी जसपुर, बाजपुर और सितारगंज में नौ शैक्षिक संस्थानों के साथ ही कई बिचौलियों के खिलाफ केस दर्ज कर चुकी है। साथ ही चार दलालों को भी गिरफ्तार कर चुकी है। इधर, एसआइटी की जांच अभी भी जारी है। इसके लिए जसपुर, बाजपुर, सितारगंज और खटीमा में छात्रवृत्ति लेने वाले लाभार्थियों से पूछताछ की जा रही है। एसआइटी अधिकारियों की मानें तो पूछताछ में उत्तर प्रदेश, हरियाणा और राजस्थान के नौ और शैक्षिक संस्थानों के खिलाफ भी साक्ष्य मिले हैं। उन्होंने छात्रों के नाम पर शैक्षिक संस्थानों में फर्जी प्रवेश कर लाखों की छात्रवृत्ति हड़पी है। इसमें उनका साथ बिचौलियों ने दिया था। ऐसे में एसआइटी अब इनके खिलाफ कुछ और साक्ष्य एकत्र कर मुकदमा दर्ज करने की तैयारी कर रही है। शैक्षिक संस्थानों के साथ ही कुछ बिचौलियों पर भी केस दर्ज हो सकता है। इनसेट-

संस्थानों के प्रबंधकों से होगी पूछताछ

एसआइटी अब शैक्षिक संस्थानों के स्वामी और प्रबंधकों से पूछताछ करेगी। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक तीन-चार दिन के भीतर उप्र, हरियाणा के नामजद शैक्षिक संस्थानों के प्रबंधक और स्वामियों को पूछताछ को नोटिस जारी किया जाएगा।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप