जासं, काशीपुर : सर्व शिक्षा अभियान की ओर से ऊधमसिंहनगर में दिव्यांगों के लिए कैंप लगने वाले हैं, लेकिन अभी हाल में टिहरी में लगे कैंप में दिव्यांगों को उपेक्षा हाथ लगी है। वहां पर दिव्यांग तो आए, लेकिन अधिकारियों ने इसकी जहमत नहीं उठाई। खास बात यह है कि पिछली दफा समाज कल्याण के शिविर में भी अधिकारियों की बेरुखी सामने आई थी।

उत्तराखंड दिव्यांग सलाहकार बोर्ड के सदस्य सतीश चौहान की मानें तो कैंप लगते रहते हैं, लेकिन इनमें दिव्यांगों को सुविधा नहीं मिल पाती। बताया कि अभी टिहरी में दिव्यांगों को प्रमाण पत्र बनने थे। इसके लिए दिव्यांगों की जांच होती है और सक्षम टीम की आवश्यकता होती है, जो कई बार शिविरों में नहीं पहुंच पाती। उन्होंने बताया कि टिहरी में शिविर तो लगा, लेकिन अधिकारी की उपेक्षा के चलते प्रमाण पत्र नहीं बन सके। ऐसे में इस बार ऊधमसिंहनगर में तीन जगह काशीपुर, बाजपुर और जसपुर में कैंप लगेंगे जिसमें बच्चों को प्रमाण पत्र बांटे जाएंगे। उनका कहना है कि एक बार फिर अफसरों की उपेक्षा देखनी पड़ सकती है।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप