जागरण संवाददाता, रुद्रपुर : दशमोत्तर छात्रवृत्ति घोटाले की जांच कर रही एसआइटी ने जसपुर, बाजपुर और सितारगंज में 50 लाभार्थियों से पूछताछ की। इस दौरान उनके बयान भी दर्ज किए गए। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक कुछ और शैक्षिक संस्थान और दलालों के नाम भी सामने आए हैं। उनके खिलाफ साक्ष्य एकत्र कर केस दर्ज किया जाएगा।

बता दें कि दशमोत्तर छात्रवृत्ति में ऊधमसिंहनगर में ही 2011 से 2019 तक करीब सवा लाख से अधिक एससी, एसटी और ओबीसी के छात्रों के नाम पर छात्रवृत्ति ली गई है। इसकी जांच कर रही एसआइटी इन लाभार्थियों से पूछताछ कर घोटाले की पुष्टि में जुटी हुई है। अब तक 700 से अधिक लाभार्थियों से हुई पूछताछ के बाद एसआइटी जसपुर, बाजपुर और कुंडा के सात शैक्षिक संस्थान समेत एक दर्जन से अधिक दलालों के खिलाफ केस दर्ज कर चुकी है। जबकि पूछताछ अभी भी जारी है। अधिकारियों के मुताबिक शुक्रवार को एसआइटी की अलग-अलग टीमों ने जसपुर, बाजपुर और सितारगंज क्षेत्र में 50 से अधिक लाभार्थियों से पूछताछ की। इस दौरान बयानों से पता चला कि अधिकांश ने छात्रवृत्ति के लिए आवेदन ही नहीं किया था। उनके बयानों के बाद एसआइटी के टारगेट पर कुछ शैक्षिक संस्थान और दलाल आ गए हैं। एसआइटी अधिकारियों के मुताबिक जल्द ही उनके खिलाफ भी केस दर्ज किया जाएगा।

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस