जागरण संवाददाता,रुद्रपुर : कोरोना संक्रमण काल में छूट के बाद रोडवेज बसों का संचालन पटरी पर नजर आने लगा है। रुद्रपुर डिपो में बेड़े की सभी 47 बसों को यात्रियों के लिए सड़क पर उतार दिया गया है। बरेली, हल्द्वानी, काशीपुर, हरिद्वार, चंडीगढ़, दिल्ली, लुधियाना व पटियाला के लिए सीधे बसों का संचालन शुरू होने के बाद अब अगले सप्ताह तक लखनऊ के लिए दो बसों की सेवा शुरू होने की उम्मीद है।

मुख्यालय को एआरएम ने प्रस्ताव भेजा है। फिलहाल दो बसें को चलाए जाने की योजना है। इनको एक दिन छोड़कर एक दिन चलाया जाएगा। रुद्रपुर से दिल्ली के लिए पांच बसें पूर्व की तरह ही चल रही हैं। बीते सप्ताह बरेली के लिए भी तीन बसों का संचालन शुरू किया जा चुका है। एआरएम राकेश कुमार ने बताया कि लखनऊ के लिए बसों के संचालन पर इसी सप्ताह मुख्यालय से अनुमति मिलने की उम्मीद है क्योंकि पूरी बसें कार्यशाला से बाहर निकल चुकी हैं। रोडवेज की आय प्रभावित न हो और दूसरे निजी आपरेटर यात्रियों की मजबूरी का फायदा न उठा सकें, इसके लिए महत्वपूर्ण रूटों पर बसों का संचालन जरूरी है।

------------

हर दिन साढ़े तीन लाख की आय

रुद्रपुर : एआरएम ने बताया कि रोडवेज की आय एक माह पहले तक जहां एक लाख रुपये प्रति दिन की थी, बढ़कर अब साढ़े तीन लाख रुपये प्रतिदिन तक पहुंच चुकी है। बीते माह करीब 24 लाख की आय रोडवेज को हुई थी। उम्मीद है कि त्योहारी सीजन में यात्रियों की संख्या को देखते हुए अगले माह तक स्थिति और सुधर जाएगी। कम से कम रोजाना पांच लाख रुपये तक की आय पार होने की उम्मीद है।

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस