संवाद सहयोगी, खटीमा: रिवर्स पलायन कर रहे श्रमिक और बेरोजगारों के लिए दुग्ध संघ अच्छी खबर लाया है। प्रदेश सरकार की स्वरोजगार योजना के तहत इन्हें दुग्ध उत्पादन के माध्यम से आजीविका से जोड़ा जाएगा। संघ जिले में 20 प्रतिशत के अनुदान पर 50 मिल्क पार्लर खोलने जा रहा है। तीन व पांच दुधारु पशुओं के लिए 395 यूनिट लगेंगी। 50 दुधारू पशुओं के लिए 92 लाख रुपये तक ऋण देगा।

कोरोना महामारी काल ऐसा लॉक लगा दी आम आदमी का रोजगार डाउन हो गया है। आत्मनिर्भर बनाने के लिए संघ मुख्यमंत्री की योजना को तेजी से धरातल पर उतारने का काम कर रहा है। दुग्ध संघ के अध्यक्ष अर्जुन सिंह रौतेला ने शनिवार को पत्रकारों से वार्ता करते हुए बताया कि मुख्यमंत्री ने रिर्वस पलायन को रोजगार एवं स्वरोजगार के लिए संघ के माध्यम से कई योजनाएं संचालित की है।

प्रधान प्रबंधक संजय डिमरी ने बताया कि ग्रामीणों को आजीविका चलान के लिए उन्हें डेरी विकास विभाग के माध्यम से राज्य समेकित सहकारी विकास परियोजना के तहत जिले भर में 50 मिल्क पार्लर खोलने के साथ ही तीन एवं पांच दुधारू पशुओं के लिए 395 यूनिट लगेंगी। इसके लिए केंद्रीय एकीकृत कृषि सहकारिता परियोजना के तहत 246050 लाख रुपए का लोन व 25 प्रतिशत अनुदान, 10 प्रतिशत लाभार्थी अंश शामिल है। उन्होंने जल्द ही संघ मिठाई के उत्पाद बाजार में उतारने की योजना बना रहा है। इस मौके पर प्रधान प्रबंधक संजय डिमरी, उपाध्यक्ष साहब सिंह, सकत्तर सिंह, गोविंद सिंह, नेत्र सिंह देऊपा, कैलाश मनराल आदि मौजूद थे।

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप