संवाद सहयोगी, रुद्रपुर : मुख्य शिक्षाधिकारी कार्यालय में कर्मचारियों की कमी का खामियाजा छात्रों को भरना पड़ता है। क्योंकि महकमा शिक्षकों को कार्यालय संबंधी कार्यो के लिए बुलाने की अपनी प्रवृत्ति में बदलाव नहीं ला रहा है। आलम यह है कि कार्यालय में अधिकारियों समेत स्वीकृत कुल 56 पदों में से 26 कार्मिक स्टॉफ का कार्य करने के लिए मजबूर हैं।

नए कर्मचारियों की नियुक्ति और प्रोन्नति न होने से जिलेभर के विद्यालयों के शिक्षकों को विभागीय कार्य के लिए सप्ताह में पांच से छह दिन जिला एवं मुख्य शिक्षाधिकारी कार्यालय में कार्य करवाया जा रहा है। ऐसे में गुणवत्ता को बढ़ाने का दावा करने वाले महकमे के इरादों पर संदेह होना लाजिमी है। जबकि शिक्षक उच्चाधिकारियों को स्कूल का रिजल्ट बिगड़ने का हवाला देते हुए विद्यार्थियों पर ध्यान देने की बात भी कहते हैं।

इनसेट-

ये पद हैं रिक्त

कार्यालय जिला शिक्षा एवं माध्यमिक में वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी, प्रधान सहायक, वरिष्ठ सहायक, कनिष्ठ सहायक व वाहन चालक का एक-एक पद रिक्त है। वहीं मुख्य शिक्षाधिकारी प्राथमिक में प्रधान सहायक, कनिष्ठ सहायक के तीन पद, वाहन चालक आदि पद रिक्त हैं। वर्जन-

कर्मचारियों की कमी है। वर्कलोड अधिक है। नई नियुक्तियां और प्रोन्नति न होने से समस्या आ रही है। इस संबंध में पत्राचार किया जाएगा।

-जीएल गौतम, प्रभारी मुख्य शिक्षाधिकारी रुद्रपुर

Posted By: Jagran