संवाद सूत्र, नैनबाग: बीती रात से जारी भारी बारिश के चलते प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कैम्पटी फाल उफान पर आने के कारण झरने के आस-पास की दुकानों में पानी घुस गया। कैम्पटी फाल में पानी के साथ मिट्टी और पत्थर आने के कारण सुरक्षा को लेकर यहां पर्यटकों के नहाने पर भी रोक लगा दी गई है। वहीं इससे दुकानदार भी सहमे हैं।

जिले का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल कैम्पटी फाल क्षेत्र में बीती मंगलवार रात्रि से हो रही भारी बारिश के चलते झरने में पानी का बहाव तेज हो गया। इसमें भारी मात्रा में मिट्टी, रेत और पत्थर भी गिर रहे हैं, जिस कारण यहां खतरा बना हुआ है। झरने का पानी सुनील नौटियाल, सुमन नौटियाल, अजीत राणा, जगत सिंह और मनोज की दुकान में घुस गया। हालांकि ज्यादा नुकसान नहीं हुआ है। झरना उफान पर होने के कारण आस-पास के दुकानदार भी सहमे हैं। यदि कैम्पटी फाल का पानी बढ़ता है तो दुकानों को भारी नुकसान हो सकता है। वहीं सुरक्षा को देखते हुए कैम्पटी फाल में पर्यटकों के नहाने पर फिलहाल रोक लगा दी गई है। पूर्व में हुई बारिश के चलते कुछ दिनों तक यहां नहाने पर प्रतिबंध लगाया गया था। लेकिन, एक सप्ताह से यहां फिर से पर्यटक नहाने के लिए पहुंचने लगे थे। लेकिन, बीती रात क्षेत्र में हुई भारी बारिश से कैम्पटी फाल का पानी काफी बढ़ गया, जिससे यहां पर खतरा बना हुआ है। पुलिस ने भी इस संबंध में स्थानीय निवासी व पर्यटकों को सचेत किया है। कैम्पटी के थानाध्यक्ष नवीन चंद्र ने बताया कि बारिश के चलते कैम्पटी फाल में फिलहाल पर्यटकों के नहाने पर रोक लगा दी गई है।

Edited By: Jagran