जागरण संवाददाता, नई टिहरी: सब्सिडी से सोलर लाइट दिलाने का झांसा देकर मेरठ निवासी दो ठगों ने भिलंगना ब्लाक के 251 ग्रामीणों से ढाई लाख रुपये ठग लिए। ठगी के शिकार पीडि़तों में अधिकतर ग्राम प्रधान शामिल हैं। चंबा पुलिस ने बीती रात मेरठ से दोनों आरोपितों को गिरफ्तार कर रविवार को न्यायालय में पेश किया, जहां से उन्हेंं जेल भेज दिया।

फरवरी 2021 में घनसाली में कुछ व्यक्तियों ने पलायन आयोग उत्तराखंड के नाम से एक व्हाट्सएप ग्रुप बनाया और ग्राम प्रधान और स्थानीय ग्रामीणों को इसमें जोड़ दिया। ग्रुप के एडमिन ने चार हजार आठ सौ रुपये वाली सोलर लाइट को 90 फीसद सब्सिडी के साथ देने का झांसा दिया। मात्र 480 रुपये में सोलर लाइट मिलने की जानकारी के बाद अधिकतर व्यक्तियों ने आनलाइन फार्म भरे और 480 रुपये प्रति लाइट के हिसाब से आनलाइन ही रुपये भी जमा करा दिए। इसके बाद जब काफी दिनों तक सोलर लाइट की डिलिवरी नहीं हुई तो ग्रामीणों ने उन नंबरों पर फोन करने का प्रयास किया।

इस पर फोन उठाने वाले ठगों ने उन्हेंं लगातार गुमराह किया। ग्रामीणों ने मामले में पुलिस मुख्यालय और थाना घनसाली में शिकायत दर्ज कराई। इसके बाद घनसाली थाने में धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज किया गया और चंबा थानाध्यक्ष पंकज देवरानी को मामले की जांच सौंपी गई।

यह भी पढ़ें- देहरादून: सेवानिवृत्त डिप्टी कमिश्नर से ठगे तीन करोड़ 65 लाख, ठगों ने ऐसे लिया था झांसे में

  विवेचना अधिकारी ने खातों की डिटेल निकाली। इसके बाद मेरठ निवासी दोनों ठगों का नाम सामने आया। बीती रात पुलिस ने मेरठ से मोहित कर्णवाल निवासी के-2/5062 शास्त्रीनगर, मेरठ और विशाल शर्मा निवासी सी/ओएल-1114 शास्त्रीनगर मेरठ समीप मिलाप कन्फेक्शनरी को गिरफ्तार कर लिया। चंबा थाना निरीक्षक पंकज देवरानी ने बताया कि दोनों आरोपित प्राइवेट फाइनेंस कंपनियों में काम करते हैं।

यह भी पढ़ें- चमोली: उप डाकघर गैरसैंण में हुई 32 लाख की चोरी का पर्दाफाश, तीन शातिर गिरफ्तार; 20 लाख बरामद

Edited By: Sumit Kumar