संवाद सहयोगी, नई टिहरी: जिला सभागार में डिस्ट्रिक्ट ई-गवनेंस की बैठक में जिलाधिकारी इवा आशीष श्रीवास्तव ने निर्देश दिए कि जिस भी विभाग के माध्यम से जो भी प्रमाण पत्र जारी किए जाते हैं, उन आवेदनों का समय से निस्तारण किया जाए। यदि किसी प्रमाण पत्र में कोई आपत्ति है तो समय पर संबंधित आवेदक को सूचित किया जाए, ताकि प्रमाण पत्रों में लगी आपत्तियों का समय पर निस्तारण हो।

बैठक में एक जनवरी से 31 अगस्त तक तहसील, नगरपालिका एवं जिला सेवायोजन कार्यालय स्तर पर कितने प्रमाण पत्र प्राप्त हुए और कितने निस्तारित हुए, कितने अवशेष हैं तथा कुल प्रमाण पत्रों के सापेक्ष कितनी धनराशि प्राप्त हुई आदि पर चर्चा हुई। जिलाधिकारी ने ई-डिस्ट्रिक्ट परियोजना के अंतर्गत पुलिस विभाग के माध्यम से ठेकेदारी के लिए दिए जाने वाले चरित्र प्रमाण पत्रों पर समय से कार्यवाही करने के निर्देश पुलिस विभाग को दिए। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि यदि एक माह से अधिक समय से कोई लंबित प्रमाण पत्र है तो किन कारणों से लंबित है, इसकी जानकारी विभागाध्यक्षों को होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रमाण पत्रों को लंबित छोड़ना घोर लापरवाही है। इस आदत में सुधार किया जाए।

जिलाधिकारी ईवा आशीष श्रीवास्तव ने ई-डिस्ट्रिक्ट मैनेजर हरेंद्र शर्मा को निर्देश दिए कि जनपद में जितने भी सीएससी केंद्र हैं, वह अपने-अपने निर्धारित जगहों पर संचालित हो रहे हैं या नहीं इसकी जानकारी एकत्र की जाए, ताकि उनका सही प्रकार से संचालन सुनिश्चित किया जा सके। बैठक में अपर जिलाधिकारी रामी शरण शर्मा, पीडी डीआरडीए आनंद सिंह भाकुनी, एसडीएम अपूर्वा सिंह आदि मौजूद थे।

Edited By: Jagran