जागरण संवाददाता, नई टिहरी: सत्रह मार्च से शुरू हो रहे टिहरी झील महोत्सव में इस बार मिनी उत्तराखंड की झलक भी नजर आएगी। डीएम डॉ. वी. षणमुगम की पहल पर इस बार प्रदेश के सभी जिलों से सांस्कृतिक कलाकारों और वाद्य यंत्रों वाले कलाकारों को बुलाया जा रहा है। इसी तरह उत्तराखंड के गढ़वाली और कुमाऊंनी व्यंजनों को आनंद भी पर्यटक ले सकेंगे।

बीती शाम डीएम डॉ. वी. षणमुगम ने कोटी कॉलोनी में टिहरी झील महोत्सव के आयोजन स्थल का निरीक्षण कर अधिकारियों के साथ बैठक की। इस दौरान डीएम ने कहा कि उत्तराखंड की संस्कृति और यहां के बारे में देश और दुनिया के पर्यटकों को जानकारी मिलनी चाहिए। इसके लिए सभी जिलों के कलाकारों को बुलाया जा रहा है। स्थानीय कलाकारों को इस महोत्सव में अपनी प्रस्तुति दिखाने का मौका मिल सकेगा। उन्होंने कहा कि महोत्सव के आयोजन के लिए गठित सभी समिति गंभीरता से काम शुरू कर दें। उन्होंने आयोजन स्थल में बिजली-पानी की सुविधा और सफाई रखने के लिए अधिकारियों को निर्देश दिए। महोत्सव में पंचकर्म और योग के लिए भी बाहर से साधक और विशेषज्ञ बुलाए जा रहे हैं। इस अवसर पर बॉलीवुड कलाकारों से भी कार्यक्रम में प्रतिभाग करने की बातचीत की जा रही है। बैठक में सीडीओ अभिषेक रुहेला, डीडीओ आनंद सिंह भाकुनी, डीएफओ कोको रोसे, सतीश नौटियाल, धारा सिंह, मुकेश चंद्र डिमरी, सोबत सिंह राणा आदि मौजूद रहे।

झील महोत्सव में प्रदेश के सभी जिलों से कलाकारों को बुलाने पर विचार किया जा रहा है। इससे पर्यटकों को पूरे प्रदेश की संस्कृति एक ही मंच पर देखने का अवसर मिल सकेगा।

डॉ. वी. षणमुगम, डीएम टिहरी गढ़वाल

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस