संवाद सहयोगी,नई टिहरी:

क्षय रोग के गंभीर रोगियों को अब उपचार के लिए अन्य अस्पतालों में नहीं जाना पड़ेगा। ऐसे रोगियों का उपचार जिला चिकित्सालय में ही किया जाएगा। रोगियों के लिए अस्पताल में अलग से वार्ड भी बनाया गया है, जहां उन्हें उपचार के लिए भर्ती कराया जा सकता है। जिला अस्पताल आने वाले क्षय रोग के गंभीर रोगियों को उपचार के लिए हायर सेंटर रेफर करना पड़ता था, लेकिन अब जिला अस्पताल में उन्हें उपचार की सुविधा मिल सकेगी। शनिवार को प्रतापनगर के एक गांव से एक रोगी को जिला अस्पताल में भर्ती कर उसका उपचार शुरू किया गया है।

शनिवार को जिला अस्पताल में क्षय रोगियों के लिए बनाए गए वार्ड का मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जंगपांगी ने शुभारंभ किया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में टीबी के जटिल रोगियों को निश्शुल्क जांच व उपचार की सुविधा मिल सकेगी। जिला क्षय रोग अधिकारी डॉ. मनोज वर्मा ने बताया कि गंभीर रोगियों को एक से दो वर्ष तक का लंबा उपचार दिया जाता है, जिसमें उन्हें नियमित दवाएं लेनी पड़ती हैं।

इस अवसर पर चिकित्सा प्रबंधक पुनीत गुप्ता, डॉ. अमित राय, प्रशांत बिष्ट, जिला समन्वयक कमला तोपवाल, एमडीआर सुपरवाइज शांति प्रसाद बिजल्वाण, टीबी सुपरवाइजर सुरेंद्र थलवाल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप