संवाद सहयोगी, नई टिहरी : जिले के सबसे दूरस्थ गंगी गांव को मोटरमार्ग मिलने की उम्मीद जग गई है। गांव में लिए स्वीकृत सड़क की क¨टग का कार्य अक्टूबर में पूरा हो जाएगा। नौ किमी स्वीकृत सड़क के लिए पांच किमी से अधिक क¨टग का कार्य हो गया। शेष अक्टूबर तक पूरा होने की उम्मीद है। वर्तमान में सड़क सुविधा नहीं होने के चलते ग्रामीणों को दस किमी से अधिक की अधिक की चढ़ाई नापनी पड़ रही है।

गंगी गांव जिले का सबसे दूरस्थ गांव है। गांव में अभी तक सड़क सुविधा न होने के कारण यह गांव अन्य हिस्सों से अलग-थलग है। सड़क सुविधा न होने के कारण यहां का विकास अवरुद्ध है। गांव में किसी के बीमार होने पर उसे अस्पताल पहुंचाना ग्रामीणों के लिए सबसे बड़ी चुनौती है। सड़क न होने के चलते यहां शिक्षक और अधिकारी जाने को राजी नहीं हैं। अन्य क्षेत्रों से संपर्क न होने के कारण गंगी गांव की बोली-भाषा और पहनावा अलग है। लेकिन अक्टूबर के बाद गंगी गांव के अवरुद्ध विकास को पंख लग जाएंगे। गांव के लिए नौ किमी सड़क पूर्व में स्वीकृत की गई थी। जिस पर कार्य भी शुरू हो गया है। 3.50 करोड़ की लागत से सड़क का निर्माण किया जा रहा है। पांच किमी से ज्यादा तक सड़क का कार्य पूरा हो चुका है शेष चार किमी से कम क¨टग का काम होना शेष है। विभाग की माने तो शेष क¨टग का कार्य अक्टूबर माह में पूरा हो जाएगा। सड़क क¨टग का कार्य पूरा होने के साथ ही ग्रामीणों के वर्षो पुराना सड़क का सपना साकार होगा। साथ ही इससे गांव में विकास कार्यो को भी गति मिलेगी। गांव की विशेषता

गंगी गांव नकदी फसल के लिए जाना जाता है। यहां का आलू काफी प्रसिद्ध है। इसके अलावा यहां पर राजमा आदि दाल भी होती है। यहां पर मुख्य व्यवसाय बकरी-भेड़ पालन है। ग्रामीण भेड़ की ऊन के बनाए कपड़े पहनते हैं। गांव के लिए नौ किमी सड़क स्वीकृत है। जिसमें क¨टग का कार्य चल रहा है। पांच किमी क¨टग कार्य हो गया है शेष कार्य अक्टूबर तक पूरा हो जाएगा।

आरके ¨सह, अधिशासी अभियंता, पीएमजीएसवाई

Posted By: Jagran

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस