संवाद सहयोगी, नई टिहरी। पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष और गुनसोला हाईड्रो पावर जनरेशन के प्रबंध निदेशक ई. रतन सिंह गुनसोला का निधन हो गया है। वह 87 वर्ष के थे उनके निधन की खबर पर जिले में शोक की लहर छा गई। उनके निधन पर जनप्रतिनिधियों ने भी गहरा दुख व्यक्त किया। निधन की सूचना पर कई लोग टिहरी से उनके देहरादून आवास पर भी पहुंचे। स्व. रतन सिंह गुनसोला दो बार जिला पंचायत अध्यक्ष रहे जबकि दो बार उन्होंने विधानसभा का चुनाव भी लड़ा।

टिहरी के पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ई. रतन सिंह गुनसोला का देहरादून स्थित बसंद विहार आवास पर बीती शुक्रवार रात्रि को निधन हो गया। वह काफी दिनों से अस्वस्थ चल रहे थे। वे वर्ष 1996 से 2002 व 2008 से 2013 तक टिहरी के जिला पंचायत अध्यक्ष रहे हैं। उन्होंने दो बार टिहरी विधानसभा से विधायक का चुनाव भी लड़ा। वर्ष 2002 में उन्होंने भाजपा से चुनाव लड़ा था, जबकि वर्ष 2013 में रक्षा मोर्चा से दोबारा चुनाव लड़ा था।

रतन सिंह गुनसोला सिचाई विभाग में इंजीनियर थे और वर्ष 1993 में वह सेवानिवृत्त हो गए थे उसके बाद उन्होंने राजनीति के क्षेत्र में कदम रखा। उनका भिलंगना में तीन मेगावाट गुनसोला हाईड्रो प्रोजेक्ट भी है। जिले के वे पहले व्यक्ति रहे जिन्होंने अपना हाईड्रो प्रोजेक्ट बनाया। करीब 15 साल पहले यह परियोजना बनाई गई थी।

गुनसोला टिहरी जिले के मैराब गांव के रहने वाले थे। उनका जन्म 1936 में हुआ था। उनके दो बेटे व एक बेटी है। बेटों का अपना बिजनेस है। जबकि दामाद सेवानिवृत्त आइएएस हैं। जनता में उनकी छवि स्पष्ट बोलने वाले व्यक्त के रूप में रही। उनके निधन की सूचना पर जिला पंचायत अध्यक्ष सोना सजवाण, जिला पंचायत सदस्य रघुवीर सजवाण, भाजपा जिलाध्यक्ष विनोद रतूड़ी, पूर्व जिलाध्यक्ष विनोद सुयाल, विजय कठैत भी देहरादून उनके आवास पर पहुंचे। वहीं जिले के जनप्रतिनिधियों, पंचायत प्रतिनिधियों ने उनके निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया।