जागरण संवाददाता, नई टिहरी: जिले की सबसे प्रमुख टिहरी विधानसभा सीट के चुनावी रण में भाजपा ने अभी तक अपना प्रत्याशी नहीं उतारा है। इस सीट पर भाजपा के वर्तमान विधायक धन सिंह नेगी सबसे प्रबल दावेदार थे, लेकिन पहली सूची में भाजपा हाईकमान ने टिहरी सीट खाली रखकर राजनीतिक गणित उलझा दिया है। पिछले कुछ महीनों की चर्चा के मुताबिक कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष और टिहरी से दो बार विधायक रह चुके किशोर उपाध्याय की भाजपा में एंट्री के कयास लगाए जा रहे हैं। इसी प्रमुख वजह से इस सीट पर अभी भाजपा ने प्रत्याशी घोषित नहीं किया है।

टिहरी जिले में टिहरी विधानसभा सबसे प्रमुख और वीआइपी सीट है, लेकिन यहां भाजपा ने अपनी लिस्ट में प्रत्याशी का नाम घोषित नहीं किया है। टिहरी सीट की पूरी गणित पिछले कुछ महीनों से कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष किशोर उपाध्याय के भाजपा में आने के कयासों के कारण उलझ गई है। भाजपा नेताओं से मुलाकात के कारण किशोर उपाध्याय को संगठन ने सभी पदों से मुक्त कर दिया था। इसके बाद साफ था कि किशोर का कांग्रेस से मोहभंग हो गया है, लेकिन इसके बाद अभी तक किशोर ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं। अब भाजपा की पहली सूची जारी होने के बाद जिले की पांच सीटों पर तो प्रत्याशी तय हो गए है, लेकिन टिहरी सीट खाली छोड़ा गया है। ऐसे में माना जा रहा है कि किशोर उपाध्याय पर भाजपा दांव खेल सकती है। हालांकि अभी भाजपा संगठन इस पर खुलकर कुछ नहीं बोल रहा। फिलहाल सभी की नजरें पार्टी के अगले कदम पर लगी है।

Edited By: Jagran