जागरण संवाददाता, नई टिहरी : स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक में कई ब्लॉक प्रभारी डॉक्टरों के न आने पर जिलाधिकारी सोनिका ने नाराजगी जताते हुए अनुपस्थित डॉक्टरों का स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग में लापरवाही से काम किया जा रहा है। सीएमओ को निर्देश दिए कि लापरवाही करने वालों के खिलाफ कार्रवाई की जाए।

गुरुवार को जिला सभागार में स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा बैठक के दौरान जिलाधिकारी सोनिका ने स्वास्थ्य उप केंद्रों के प्रभारी डॉक्टरों की अनुपस्थिति पर कड़ी नाराजगी प्रकट की। थौलधार, देवप्रयाग और प्रतापनगर के प्रभारी बैठक में न आने पर जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्साधिकारी को संबंधित प्रभारियों का स्पष्टीकरण तलब करने के निर्देश दिए। प्रतापनगर ब्लॉक में ओपीडी की संख्या न बढ़ने पर जिलाधिकारी ने वहां के प्रभारी को भी कड़ी फटकार लगाई और स्थिति सुधारने के निर्देश दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि सीएमओ हर महीने स्वास्थ्य उपकेंद्रों पर तैनात एएनएम के कार्यो की समीक्षा स्वयं करें। अगर कोई सही काम नहीं करता है तो उसका स्पष्टीकरण तलब करें। बायोमेट्रिक उपस्थिति के आधार पर ही अधिकारी व कर्मचारी का वेतन आहरित किया जाए। गर्भवती महिलाओं के रजिस्ट्रेशन में कमी पर भी जिलाधिकारी ने स्थिति सुधारने के निर्देश दिए। बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जंगपांगी, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. मनोज वर्मा, डॉ. श्याम विजय, डॉ. सुचिता जैन, जिला कार्यक्रम प्रबंधक प्रीतम नेगी , ऋषभ उनियाल आदि मौजूद रहे।

By Jagran