नई टिहरी, [जेएनएन]: नई टिहरी में भारी बारिश के बाद कारें बह गई। इतना ही नहीं यहां एक पिता और पुत्री फंस गए थे। पहले पिता ने नदी को पार किया। अब बेटी की बारी थी, लेकिन नाला पार करते हुए वह बह गई। हालांकि उसे बचा लिया गया।
सुबह आठ बजे से साढ़े 11 बजे नई टिहरी और उसके आसपास के क्षेत्रों में भारी बारिश ने तबाही मचा दी। तीन घंटे में ही नई टिहरी में 220 एमएम बारिश दर्ज की गई।

बारिश से उत्तराखंड में भारी नुकसान, तस्वीरें
शहर का पानी भागीरथीपुरम की तरफ गया तो पांगरखाल गांव में ग्रामीण उदय सिंह और उसकी बेटी वर्षा (19 वर्ष) दोनों उफनते नदी में फंस गए। वर्षा का बीएससी से प्रैक्टिकल था, जिसके लिए वे दोनों नई टिहरी आ रहे थे। ग्रामीणों की सूचना पर नई टिहरी कोतवाली पुलिस प्रभारी देवेंद्र सिंह चौहान और तहसीलदार शक्ति प्रसाद उनियाल टीम सहित मौके पर पहुंचे और दोनों को सीढ़ी और रस्सी की मदद से उफनती नदी से बाहर निकाल रहे थे।

कहर बनकर आई बारिश में बह गई कार, देखिए तस्वीरें
इसी बीच अचानक वर्षा का पैर फिसला और वह उफनते नाले में लगभग इस मीटर तक बह गई। लेकिन रस्सी से बंधी होने के कारण पुलिस के जवानों ने वर्षा को किसी तरह उफनते गदेरे से बाहर निकाला।

पढ़ें-बारिश के दौरान इस स्कूल में हुई पत्थरों की बरसात
वहीं पांगर खाल के नदी से उफनते पानी से भैंतोगी के पास तीन परिवारों को नाले के कारण खतरा हो गया था। तीनों परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर शिफ्ट किया गया है। खांडखाला में भी बारिश के चलते एक मकान क्षतिग्रस्त हो गया। कम समय में तेज बारिश के चलते नई टिहरी में सी ब्लॉक और पीजी कालेज की पार्किंग ध्वस्त हो गई।

PICS: अभी भी नहीं सुधरे हैं उत्तराखंड में हाल
पीजी कालेज की पार्किंग गिरने से तीन गाडि़यां क्षतिग्रस्त हो गई। भारी बारिश के चलते नई टिहरी एम ब्लॉक के सामने पहाड़ी से भूस्खलन शुरु हो गया। जिससे लोगों में दहशत बनी रही।
वहीं नई टिहरी-चंबा रोड बादशाहीथौल के पास ध्वस्त हो गई। जबकि नई टिहरी- कोटी कॉलोनी रोड भी पांगर और पैन्यूला के पास मलबा आने से बंद हो गई।

पढ़ें:-उत्तराखंड में भारी बारिश, गोमुख के रास्ते में फंसे 70 यात्री; रेस्क्यू टीम भेजी

Edited By: gaurav kala