जागरण संवाददाता, टिहरी। काकड़ का शिकार कर उसका मांस बेचते पिता-पुत्र सहित दो अन्य ग्रामीणों को पुलिस ने मांस सहित धर दबोचा। चारों के खिलाफ वन्यजीव अधीनियम के तहत थाना हिंडोलाखाल में मुकदमा दर्ज किया गया। बीते रोज पुलिस को सूचना मिली कि जिले के थाना क्षेत्र हिण्डोलाखाल के नगर गांव पट्टी तौली, बनगढ में कुछ ग्रामीणों ने जंगल में काकड़ का शिकार किया है और वह उसका मांस भी बेच रहे हैं। 

खबिर की सूचना पर हिंडोलाखाल थानाध्यक्ष जितेंद्र कुमार की अगुवाई में पुलिस टीम ने गांव में छापा मारा तो कुछ ग्रामीणों के पास जानवर का मांस बरामद किया गया। पुलिस नेपशु चिकित्सक अविनाश चौहान से मांस की पहचान कराई तो उन्होंने जंगली जानवर का मांस होना बताया। जिसके बाद पुलिस ने चार ग्रामीणों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने साढ़े 26 किलो मांस भी बरामद किया। 

पुलिस ने रमेश पुत्र गल्तु 50, रमेश के बेटे जगदीश 27 सहित मांस खरीदने वाले दिनेश 34 और भगवान 35 के खिलाफ वन्यजीव अधीनियम के तहत मुकदमा दर्ज किया है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक तृप्ति भट्ट ने बताया कि जंगली जानवर काकड़ का शिकार करने और उसे बेचने व खरीदने के आरोप में सभी को गिरफ्तार कर लिया गया है। शिकार करने वालों से पूछताछ की गई है। न्यायालय मे पेश करने के बाद चारों को जेल भेज दिया गया है। 

यह भी पढ़ें-रायवाला स्थित ठेके पर शराब के शौकीनों की भीड़ उमड़ी, पुलिस ने भांजी लाठियां

Uttarakhand Flood Disaster: चमोली हादसे से संबंधित सभी सामग्री पढ़ने के लिए क्लिक करें