नई टिहरी: डीएम सोनिका ने बाल श्रम उन्मूलन जिला टास्क फोर्स को निर्देश दिए कि जनपद में बालश्रम को रोकने के लिए माह में दो बार अनिवार्य रुप से अभियान चलाया जाय। यदि 18 वर्ष से कम आयु वर्ग का कोई भी बालक, किशोर या किशोरी बालश्रम कानून के अन्तर्गत चिन्हित जगहों काम करता हुआ पाया जाता है तो ऐसे फैक्ट्री या संस्थान संचालक, स्वामी के विरुद्ध एफआइआर दर्ज करवायी जाए। यदि जनपद में कहीं भी कोई बाल श्रमिक कार्य करते हुए पाया जाता है तो समिति के सदस्य इसकी सूचना श्रम विभाग को दें ताकि बाल श्रम करवाने वाली संस्था,फैक्ट्री के संचालक के विरुद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जा सके। उन्होंने निर्देश दिए कि श्रम एवं बाल विकास विभाग से आवश्यकता पड़ने पर पुलिस विभाग को वाहन भी उपलब्ध कराया जाए। मुख्य चिकित्साधिकारी डॉ. भागीरथी जंगपांगी, श्रम प्रवर्तन अधिकारी एसएस रांगड़, कोतवाल सुंदरम शर्मा, जिला समाज कल्याण अधिकारी अमित सैनी, जिला बाल कल्याण समिति की अध्यक्ष प्रभा रतूडी, सुशील बहुगुणा आदि उपस्थित थे। (जासं)

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप