घनसाली, दीपक श्रीयाल। टिहरी जिले के भिलंगना ब्लॉक स्थित गंगी गांव के लिए मंगलवार का दिन एतिहासिक रहा। यह ऐसा मौका था, जब आजादी के 71 साल बाद पहली बार गांव में पहुंची बस को देख बच्चे, बूढ़े, महिलाएं और युवक खुशी से झूम उठे। इस दौरान ऐसा लग रहा था, मानो कोई उत्सव मनाया जा रहा हो। 

भिलंगना ब्लॉक का सबसे दूरस्थ गांव गंगी आज भी मूलभूत सुविधाओं से कोसों दूर है। रीह से 12 किमी की खड़ी चढ़ाई तय करने के बाद ही गंगी पहुंचा जा सकता है। लेकिन, अब गंगी के लिए साढ़े किमी लंबी सड़क का निर्माण पूरा हो चुका है। पीएमजीएसवाई (प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना) के तहत फरवरी 2017 में गंगी के लिए सड़क निर्माण का कार्य शुरू हुआ और मंगलवार को गांव में बस भी पहुंच गई। 

इस सड़क पर 3.75 करोड़ की लागत आई। गांव में पहली बार बस को देख ग्रामीणों की खुशी का ठिकाना नहीं था। ग्रामीणों ने ग्राम प्रधान नैन सिंह को इसका श्रेय देते हुए उनका जोरदार स्वागत किया। नैन सिंह ने बताया कि वह बीते एक दशक से गंगी तक सड़क पहुंचाने के लिए पूरे मनोयोग से जुटे हुए थे। अब जाकर यह सपना साकार हो पाया। इससे गंगी के विकास को नए आयाम मिलेंगे।

अधिशासी अभियंता को जानकारी नहीं 

गंगी गांव में भले ही मंगलवार को सब पहुंच गई हो, लेकिन सड़क बनाने वाले पीएमजीएसवाई के अधिशासी अभियंता संजय श्रीवास्तव को इसकी जानकारी तक नहीं थी। श्रीवास्तव से जब इस संबंध में पूछा गया तो उनका कहना था कि जेई से जानकारी लेने के बाद ही कुछ कह पाएंगे। 

पर्यटन गांव बनने की उम्मीद 

सड़क पहुंचने से जहां गंगी गांव के विकास को गति मिलेगी, वहीं देश-दुनिया के पर्यटक भी यहां आसानी से पहुंच पाएंगे। नैसर्गिक सौंदर्य के धनी इस गांव में पर्यटकों के पहुंचने से गांव में रोजगार के अवसर भी सृजित होंगे।

यह भी पढ़ें: यहां 71 साल बाद पहुंची बस, ग्रामीणों ने कुछ इस तरह मनाया जश्न

यह भी पढ़ें: गांव में पहली बार गाड़ी देख खिले लोगों के चेहरे, विजयदशमी को करेंगे ये काम

यह भी पढ़ें: आजादी के 70 साल बाद इस गांव में पहुंची बस, ग्रामीणों ने मनाया जश्न

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस