चंबा : ग्राम पंचायत दिखोलगांव में सात दिवसीय श्रीमद्भागवत कथा शुरू हो गई। इस मौके पर ग्रामीणों ने कलश यात्रा निकाली।

इस मौके पर कथावाचक आचार्य हर्षमणि बहुगुणा ने कहा कि कलयुग में मनुष्य भोग विलास और केवल धन अर्जन करने की गतिविधियों में सक्रिय है। जिससे कई तरह की दिक्कतों का सामना उसे जीवन में करना पड़ता है, लेकिन वह समझ नही पाता है और उलझा हुआ रहता है। इसलिए हर दिन कम से कम कुछ समय भगवान की भक्ति, पूजा-अर्चना में जरूर लगाना चाहिए और जब भी कोई धार्मिक आयोजन हो उसमें भागीदारी अवश्य करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि कथा श्रवण करने से मन के विकार दूर होते हैं और आत्मा की शुद्धि होती है। इस मौके पर कथा आयोजक पूर्व प्रधान किशनी देवी, शैलेन्द्र ¨सह रावत और जबर ¨सह रावत, विनोद रावत, सुदीप रावत, शशि देवी, बीना देवी, रुकमा देवी, युद्धवीर ¨सह रावत, उत्तम ¨सह रावत मौजूद थे। (संस)

Posted By: Jagran