संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान के तत्वावधान में तीन दिवसीय जिलास्तरीय आचार्य प्रशिक्षण वर्ग (आइसीटी)का प्रशिक्षण संपन्न हो गया है। इसमें रुद्रप्रयाग व चमोली जिले के 55 आचार्य ने प्रतिभाग किया। इस मौके पर कम्प्यूटर के आधुनिक उपयोग और महत्व पर व्यापक जानकारी दी गई।

विद्या मंदिर इंटर कालेज बेलनी के सभागार में आयोजित कार्यक्रम में आचार्य प्रशिक्षण वर्ग प्रथम सत्र में प्रधानाचार्य गंगादत्त जोशी एवं प्रशिक्षक अंकित बलूनी, सिद्धांत नौटियाल शुभारंभ किया। विद्यालय प्रबंधन समिति के अध्यक्ष श्रीकृष्ण सिंह नेगी ने कम्प्यूटर के महत्व की जानकारी दी। चमोली के संकुल प्रमुख मुरलीधर चंदोला ने भी कम्प्यूटर के बारे में व्यापक जानकारी दी। द्वितीय सत्र में प्रांत संगठन मंत्री भुवन ने कहा कि सभी विद्यालयों को पूर्ण कम्प्यूटरीकृत किया जाएगा। प्रशिक्षण में चरित्र एवं हस्तांतरण प्रमाण पत्र, शुल्क पावती, अभिभावक सम्पर्क, संदेश संदर्भित शिक्षा के बारे में बताया गया। अंतिम दिवस प्रधानाचार्य मनोज कुकरेती ने सभी प्रशिक्षुओं को इस प्रण्णली को अपने अपने विद्यालयो में शीघ्र लागू करने को कहा। इसके बाद सभी का फीडबैक भी लिया गया। इस मौके पर जगदीश प्रसाद भट्ट, विक्रम आर्य, कपिल रावत, प्रदीप नौटियाल आदि मौजूद थे।

Posted By: Jagran

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप