संवाद सहयोगी, रुद्रप्रयाग: पूर्व नगर पालिका अध्यक्ष रेखा सेमवाल के पति और जीएमवीएन के पूर्व प्रबंधक एवं गंगा आरती समिति के संयोजक सचिदांनद सेमवाल का रविवार देर शाम निधन हो गया। उनके निधन पर जनपद के व्यापारियों और विभिन्न संगठनों से जुड़े व्यक्तियों ने गहरी संवेदना जताते हुए मृतक आत्मा की शांति के लिए भगवान से प्रार्थना की। उधर, एक साथ दो भाइयों की मौतों से सेमवाल के परिवार में मातम का माहौल है।

64 वर्षीय सचिदानंद सेमवाल के छोटे भाई जयप्रकाश सेमवाल की तबीयत बिगड़ गई थी। सचिदानंद सेमवाल उन्हें बेस चिकित्सालय श्रीकोट ले जा रहे थे, लेकिन रास्ते में ही उन्होंने दम तोड़ दिया। बेस चिकित्सालय में जयप्रकाश को चिकित्सकों ने मृत घोषित कर दिया। भाई की मौत से सचिदानंद सेमवाल की तबीयत भी बिगड़ गई, उन्हें भी बेस चिकित्सालय में भर्ती कराया गया, जहां रविवार देर शाम अचानक तबीयत बिगड़ गई, जहां रविवार देर शाम उनका भी निधन हो गया। एक साथ दो मौतों से रुद्रप्रयाग जिले में शोक की लहर दौड़ गई। सचिदानंद सेमवाल विभिन्न सामाजिक कार्यो में सक्रिय रहते थे। वह शहर के प्रतिष्ठित व्यापारी होने के साथ ही नगर में रामलीला का मंचन हो या फिर गंगा आरती शुरू कराने में उनकी महत्वपूर्ण भूमिका रही थी। वह पूर्व में गढ़वाल मंडल विकास निगम में वरिष्ठ प्रबंधक भी रह चुके थे। उनकी पत्नी रेखा सेमवाल नगर पालिका की अध्यक्ष रह चुकी हैं। सचिदानंद सेमवाल ने नगर में श्रीशक्ति एवं सांस्कृतिक शक्ति ट्रस्ट के माध्यम से दुर्गा पूजा का शुभारंभ भी कराया था। संगम में गंगा की मूर्ति स्थापना करवाने में भी उन्होंने अहम योगदान दिया। वह लोगों को स्वास्थ्य के प्रति भी जागरूक करते रहते थे। उनके निधन पर व्यापार संघ रुद्रप्रयाग के अध्यक्ष चंद्रमोहन सेमवाल, केदारनाथ विधायक मनोज रावत, जिला पंचायत अध्यक्ष अमरदेई शाह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष लक्ष्मी राणा, पूर्व विधायक आशा नौटियाल व शैला रानी रावत, विजय कप्रवान, पूर्व राज्य मंत्री अशोक खत्री, ब्लॉक प्रमुख जखोली प्रदीप थपलियाल, प्रदीप बगवाड़ी, श्यामलाल सुंदरियाल, गंगा आरती समिति के अध्यक्ष कुंवर सिंह रावत समेत विभिन्न लोगों ने गहरा शोक जताया है।

Edited By: Jagran