रुद्रप्रयाग, [जेएनएन]: केदारनाथ के लिए हेली सेवाओं के टिकटों की ब्लैकमेलिंग पर अंकुश लगाने के लिए विशेष जांच दल (एसआइटी) ने अभियान तेज कर दिया है। इस मामले में कार्रवाई करते हुए एसआइटी ने दो दलालों को गिरफ्तार कर लिया, जबकि एक फरार हो गया। इससे पहले एसआइटी एक एजेंट को गिरफ्तार कर चुकी है और गुरुवार को टीम ने ग्लोबल एविएशन के कार्यालय में छापा मार कर दस्तावेज भी कब्जे में लिए थे।

केदारनाथ के लिए हेलीकॉप्टर की टिकटों में कालाबाजारी की शिकायत पर एसआइटी ने शुक्रवार को भी कार्रवाई जारी रखी। रुद्रप्रयाग के पुलिस अधीक्षक और एसआइटी प्रभारी पीएन मीणा ने बताया कि लगातार मिल रही शिकायतों को देखते हुए गुप्तकाशी के पुलिस उपाधीक्षक अभय कुमार सिंह के नेतृत्व में तीन सदस्यीय टीम को सादे कपड़ों में सीतापुर हेलीपैड भेजा गया। यहां टीम ने बतौर यात्री आसपास के लोगों से टिकट के लिए पूछताछ की। टीम को किसी ने बताया कि कन्हैया कुमार नाम का एक शख्स टिकटों की व्यवस्था कर सकता है। टीम को कन्हैया एक चाय की दुकान पर मिल गया। उसने प्रति व्यक्ति किराया 16 हजार रुपये मांगा।

आखिरकार सौदेबाजी के बाद यह रकम 13 हजार तय हुई। इस पर टीम ने तीन यात्रियों के किराये के तौर पर 39 हजार रुपये कन्हैया को दिए। कन्हैया टीम को लेकर हेलीपैड पहुंचा। यहां उसका साथी रोहन और मधुसूदन इंतजार कर रहे थे। टीम ने निकटतम चौकी से फोर्स बुलाई। पुलिस के आने पर कन्हैया और रोहित हत्थे चढ़ गए, लेकिन मधुसूदन भाग निकला। पकड़े गए आरोपितों ने कन्हैया कुमार, ग्राम चोटी च्वाली, थाना नजीबाबाद, जिला बिजनौर (उप्र) का रहने वाला है, जबकि रोहित और मधुसूदन रुद्रप्रयाग जिले के त्रियुगीनारायण के निवासी हैं।

यह भी पढ़ें: केदारनाथ के लिए हवाई सफर के टिकट ब्लैक करते एजेंट गिरफ्तार

यह भी पढ़ें: इस मामले में ग्लोबल एविएशन कंपनी में एसआइटी ने मारा छापा

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप